Top
Home > राज्य > कर्नाटक > बैंगलोर > सीएम कुमार स्वामी बोले, में इस्तीफा देने को तैयार, कर्नाटक में फिर सियासी भूचाल

सीएम कुमार स्वामी बोले, में इस्तीफा देने को तैयार, कर्नाटक में फिर सियासी भूचाल

 Special Coverage News |  28 Jan 2019 7:04 AM GMT  |  कर्नाटक

सीएम कुमार स्वामी बोले, में इस्तीफा देने को तैयार, कर्नाटक में फिर सियासी भूचाल

कर्नाटक में सियासी संकट लगातार बढ़ता जा रहा है। अब कांग्रेस विधायक के बयान के बाद यहां की राजनीति गर्मा गई है। बात इतनी बढ़ गई है कि मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी कुर्सी छोड़ने तक को तैयार हैं।कांग्रेस विधायक के बयान पर मुख्यमंत्री कुमारस्वामी का कहना है, "कांग्रेस नेताओं को इन सभी मुद्दों को देखना होगा, मुझे इससे कोई मतलब नहीं है। अगर वे सिद्धारमैया को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं, तो मैं पद छोड़ने के लिए तैयार हूं। वह सीमा पार कर रहे हैं… कांग्रेस नेताओं को अपने विधायकों को नियंत्रित करना चाहिए।" बता दें कि कांग्रेस विधायकों ने सिद्धारमैया को अपना नेता बताया था।

वहीं उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर ने कहा कि सिद्धारमैया सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री रहे हैं। वह हमारे विधायक दल के नेता हैं। विधायकों के लिए वही मुख्यमंत्री हैं। उन सभी ने बस अपनी राय व्यक्त की है। इसमें गलत क्या है? हम सभी सीएम कुमारस्वामी के साथ खुश हैं।


क्या बोला था कांग्रेस विधायक ने?

जब सियासी संकट के बीच ये आरोप लगाए गए कि संकट के लिए पार्टी के नेता सिद्धारमैया जिम्मेदार हैं, इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री के समर्थकों ने रविवार को कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली सरकार की आलोचना की। सिद्धारमैया के समर्थकों ने एक कार्यक्रम में उनका स्वागत किया। जहां वह कांग्रेस मंत्री सी पुत्तारंगा शेट्टी के साथ आए थे। समर्थकों ने कहा कि वह अभी भी सिद्धारमैया को मुख्यमंत्री मानते हैं।

इसी बीच गठबंधन की सरकार की आलोचना करते हुए कांग्रेस विधायक एसटी सोमशेखर ने कहा, "गठबंधन सरकार को सत्ता में आए सात महीने हो गए हैं, लेकिन विकास का काम अभी तक नहीं हुआ है।" सोमशेखर ने आगे कहा, "अगर सिद्धारमैया को पांच साल का और कार्यकाल मिल जाता, तो हम असल विकास देखते।"

इस मामले पर कर्नाटक के डिप्टी सीएम ने कांग्रेस विधायक के बयान का समर्थन किया है। उनका कहना है, "सिद्धारमैया एक अच्छे सीएम रहे हैं, विधायकों के लिए, वह (सिद्धारमैया) ही सीएम हैं। उन्होंने अपनी राय व्यक्ति की है। इसमें गलत क्या है? हम सब उनसे (कर्नाटक सीएम एचडी कुमारस्वामी) खुश हैं।"



सिद्धारमैया ने किया समर्थन

सिद्धारमैया ने भी इस बात पर अपने समर्थकों का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि अगर उन्हें मुख्यमंत्री के रूप में एक और कार्यकाल मिला होता, तो उनकी सरकार ने जो विकास कार्य शुरू किए थे, वह पूरे होते। उन्होंने दावा किया कि उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों ने उन्हें हराया है। उन्होंने कहा, "वो स्मीयर कैंपन (झूठे आरोप लगाकर व्यक्ति को सार्वजनिक तौर पर बदनाम करने की योजना) में शामिल थे और उन्हें मुझसे जलन हो रही थी इसलिए उन्होंने मेरी हार को इंजीनियर्ड किया।"

पूर्व मुख्यमंत्री की सरहना करते हुए समाज कल्याण मंत्री सी पुत्तारंगा शेट्टी ने कहा, "आप कुछ भी कहें, केवल सिद्धारमैया मेरे मुख्यमंत्री हैं… मैं उनकी पोजीशन पर किसी और की कल्पना नहीं कर सकता।"

समस्या को हल करने की बात करते हुए जेडी(एस) अध्यक्ष एचडी देव गौड़ा ने कहा कि गठबंधन की राजनीति में विचारों में अंतर प्राकृतिक है और वह इसपर ध्यान नहीं देंगे। उनका कहना है, "मैंने इसपर प्रतिक्रिया न देने का चुनाव करता हूं। ऐसी चीजें होती हैं जब आप गठबंधन की राजनीति में होते हैं।"

खड़गे ने भाजपा पर लगाया था आरोप

इससे पहले कर्नाटक में सियासी संकट पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भाजपा और आरएसएस को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने कहा था कि ये केंद्रीय ताकतों का प्रयोग करते हुए सरकार को अस्थिर करना चाह रही है। भाजपा चुनाव के पहले किसी भी तरह राज्यपाल शासन लाने का प्रयास कर रही है।

उन्होंने कहा था कि भाजपा जो चाह रही है, वह हो नहीं पाएगा। उन्होंने एक तरह से चेतावनी दी थी कि कितना भी गिराने की कोशिश कर ले भाजपा, लेकिन इधर से एक जाएंगे, तो उधर से 10 आएंगे।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it