Top
Home > राज्य > कर्नाटक > बैंगलोर > लिंगायत धर्मगुरु माते महादेवी का 73 साल की उम्र में निधन

लिंगायत धर्मगुरु माते महादेवी का 73 साल की उम्र में निधन

 Special Coverage News |  14 March 2019 1:37 PM GMT  |  दिल्ली

लिंगायत धर्मगुरु माते महादेवी का 73 साल की उम्र में निधन

लिंगायत धर्मगुरु माते महादेवी का 73 साल की उम्र में निधन हो गया है. माते महादेवी ने बेंगलुर के मणिपाल अस्पताल में आखिरी सांस ली. माते महादेवी डायबिटीज, फेफड़ों की बीमारी, गुर्दे की बीमारी, रक्त प्रवाह संक्रमण, सेप्टीसीमिया जैसी गंभीर बीमारियों से जूझ रही थीं.

आपको बता दें पिछले साल कर्नाटक विधनासभा चुनाव में माते महादेवी ने पूरे चुनाव का मुद्दा ही बदल कर रख दिया था. चुनाव से पहले उन्होंने लिंगायत समुदाय को अलग धर्म का दर्जा दिए जाने की मांग को लेकर कर्नाटक में कई रैलियों को संबोधित किया था.

लिंगायत समुदाय की पहली महिला संत माते महादेवी मुख्य तौर पर उत्तर कर्नाटक में अनाथालयों और शैक्षणिक संस्थानों का एक समूह चलाती थीं. उनका कहना था कि लिंगायत हिंदुओं से अलग हैं.

कर्नाटक में वीरशैव-लिंगायत समुदाय की आबादी 14 से 17 फीसदी है. कर्नाटक की आबादी करीब 6.5 करोड़ है. कर्नाटक के 224 विधानसभा सीटों में 90 पर लिंगायत बहुतायत है. पूर्व मुख्यमंत्री येदियुरप्पा भी लिंगायत समुदाय से आते हैं.



Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it