Top
Begin typing your search...

100 करोड़ का भाजपाई घोटाला दिल्ली पहुंचा...

100 करोड़ का भाजपाई घोटाला दिल्ली पहुंचा...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नवनीत शुक्ला

इन दिनों भोपाल से दिल्ली तक भाजपा के सत्ता और संगठन को लेकर बड़े दस्तावेज पहुंच रहे हैं। पिछले दिनों सौ करोड़ रुपए के पार्टी फंड की हेराफेरी का मामला सामने आने के बाद यह मामला अब कई नेताओं के लिए मुसीबत बनता जा रहा है। गृहमंत्री और राष्ट्रीय अध्यक्ष ने मध्यप्रदेश भाजपा के कार्यालयीन मंत्री को दिल्ली तलब किया था। यहां पर पार्टी फंड को लेकर विस्तृत चर्चा भी हुई। इस दौरान कार्यालयीन मंत्री ने अपने पाक-साफ होने का दावा करते हुए कहा है कि उनकी इतनी हैसियत ही नहीं है। जिन्होंने किया है, वे सब जानते हैं।

इस हेराफेरी के दस्तावेज भी संगठन के बड़े नेताओं द्वारा ही उपलब्ध कराए गए है। उल्लेखनीय है कि इस समय दिल्ली से भोपाल तक और संघ से भोपाल तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की पुरानी टीम संगठन स्तर पर ताकतवर बनी हुई है। ऐसे में भाजपा के ही वरिष्ठतम सूत्र यह दावा कर रहे हैं कि पांच राज्यों के चुनाव निपटते ही मध्यप्रदेश में बड़ा उलटफेर होने जा रहा है। अगला चुनाव चाहे निकाय का हो या विधानसभा का, नए मुख्यमंत्री के झंडे तले ही होगा। इन्हीं दावों के बीच भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष वी.डी. शर्मा भी पूरी तरह राजनीतिक बिसातें बिछाने में व्यस्त है। इस बीच नए-नए भाजपाई हुए ज्योति बाबू भी भोपाल और दिल्ली में समन्वय की राजनीति कर रहे हैं।

नए दाम के लिए तैयार हुई नई घोड़ियां...

राजनीति में जब तक लड्डू हाथ में रहे, वह आपका नहीं होता है। जब वह पेट में चला जाता है तभी आपका होता है। उच्च न्यायालय द्वारा मध्यप्रदेश में निकाय चुनाव में आरक्षण को लेकर दिए गए स्थगन के बाद अब जानकार मान रहे हैं कि चुनाव वैसे भी अक्टूबर में होने हैं, दूसरी ओर अब आरक्षण की प्रक्रिया भी नए सिरे से ही होगी, क्योंकि आरक्षण की प्रक्रिया में कई त्रुटियां हैं, इसलिए अब यह तय नहीं है कि इंदौर में महापौर पद सामान्य ही रहे, बल्कि यह पिछड़ा भी हो सकता है। आरक्षण रद्द होने की पूरी संभावना को देखने के बाद शहर के कांग्रेस के दो पिछड़ा वर्ग के नेता इन दिनों प्रसन्न दिखाई दे रहे हैं।

उनका दावा है कि अब फिर नई घोड़ी-नया दाम होगा और नई घोड़ियां पहले से ही सूटबूट पहनकर बाजार में कुलांचे भर रही हैं, यानी आठ महीने पहले मिला संजय बाबू का लड्डू या खीर दूसरों के हाथ में जाती दिख रही है। इतने दिन गली-मोहल्ले में नाच-कूदकर थोड़ा-बहुत माहौल तैयार किया और अब दूसरे मदारी मजे लें, यह भी नागवार गुजर रहा है। इसी के साथ कांग्रेसियों का एक नया दावा यह भी है कि अक्टूबर तक कांग्रेसी गंगा में बड़ा पानी बह जाएगा। नए अध्यक्ष का भी मुखड़ा देखने को मिल सकता है।

दिग्गी के तेवर...

इन दिनों दिग्गी राजा पूरी तरह आक्रामक शैली में दिखाई दे रहे है। पिछले दिनों एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में पहुंचे दिग्गी राजा ने जिस तरीके से अपने तर्क संगत प्रश्नों से चैनल के एंकर के धुर्रे उड़ा दिए। साथ ही चैनल को यह भी बता दिया कि तुम्हारा एक ही मिशन है दिग्विजयसिंह। दिग्गी ने कहा इतिहास गवाह है समय बदलता है और जब बदलेगा तब तुम्हारा इतिहास भी लिखा जाएगा। इस दौरान न्यूज एंकर को केवल आधे घंटे शर्मिन्दा होने के अलावा और कोई काम नहीं बचा था।


Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it