Home > राज्य > महाराष्ट्र > महाराष्ट्र विधानसभा: शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस के गंठबंधन पर भारी पड़े ये चार विधायक

महाराष्ट्र विधानसभा: शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस के गंठबंधन पर भारी पड़े ये चार विधायक

 Sujeet Kumar Gupta |  30 Nov 2019 11:14 AM GMT  |  नई दिल्ली

महाराष्ट्र विधानसभा: शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस के गंठबंधन पर भारी पड़े ये चार विधायक

उद्धव सरकार ने महाराष्ट्र विधानसभा में अपना फ्लोर टेस्ट पास कर लिया है. सरकार के पक्ष में 169 वोट पड़े हैं, जो बहुमत के आंकड़े से 24 वोट अधिक है. हालांकि, इस दौरान चार विधायक तटस्थ रहे. यानी इन विधायकों ने न तो उद्धव सरकार के समर्थन में किया और न ही विपक्ष में वोटिंग की।

बतादें कि असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के दो विधायक, राज ठाकरे की पार्टी मनसे के एक विधायक और सीपीआई-एम के एक विधायकों को शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस के गंठबंधन ने उन चार विधायकों को अपने पाले में लाने में असमर्थ दिखे। वही फ्लोर टेस्ट से पहले बीजेपी के विधायकों ने वॉक आउट कर दिया था. बीजेपी के वॉक आउट की वजह से 115 विधायक सदन में मौजूद नहीं रहे।

महाराष्ट्र विधानसभा में कुल सीटें 288 हैं. बहुमत के लिए कम से कम 145 विधायकों का समर्थन जरूरी है. शिवसेना के 56, एनसीपी के 54, कांग्रेस के 44 विधायको को मिलकर आंकड़ा 154 है. इन सभी विधायकों ने सरकार के पक्ष में वोट डाला. इनके अलावा छोटे दलों और निर्दलीय विधायकों ने भी उद्धव सरकार के पक्ष में वोट डाला.

महा विकास अघाड़ी को 169 विधायकों का समर्थन मिला. उद्धव सरकार के पक्ष में शिवसेना के 56, एनसीपी के 54, कांग्रेस के 44, सपा के 2, स्वाभिमानी शेतकारी के एक, बहुजन विकास अघाड़ी के 3, पीडब्लूपी के एक और निर्दलीय 10 विधायक रहे. इसमें एनसीपी के एक विधायक को प्रोटेम स्पीकर बना दिया गया था, इस वजह से 169 विधायकों ने वोट डाला।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top