Top
Begin typing your search...

अस्पतालकर्मी सोते रहे और बच्चे जलकर मरते रहे, 10 बच्चे जलकर कोयले में तब्दील

17 में से 7 नवजात सही सलामत हैं. वार्ड में आग लगने की वजह शार्ट सर्किट बताई जा रही है.

अस्पतालकर्मी सोते रहे और बच्चे जलकर मरते रहे, 10 बच्चे जलकर कोयले में तब्दील
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

महाराष्ट्र में भंडारा जिला सामान्य अस्पताल में आग लगने की घटना से हडकम्प मचा हुआ है. इस घटना में 10 मासूमों की मौत हो गई जबकि 7 बच्चे घायल है. अस्पताल में आग लगने की खबर से हडकम्प मच गया.

महाराष्ट्र के भंडारा जिले से एक विचलित कर देने वाली खबर आई है जहां एक सरकारी अस्पताल में 10 नवजात बच्‍चों की आग में झुलसने से मौत हो गई. हॉस्‍पि‍टल की न्यूबॉर्न केयर यूनिट में 17 नवजात बच्‍चे थे जिनमें 10 की मौत हो गई.

भंडारा जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉक्‍टर प्रमोद खंडाते ने आजतक से बात करते हुए कहा कि अस्पताल के स‍िक न्यूबॉर्न केयर यूनिट (SNCU) में 17 नवजात बच्‍चों को रखा गया था.

इस बीच 10 नवजात बच्‍चों का बदन काला पड़ चुका था और एक नवजात के बदन पर जलने के निशान दिखाई दिए.17 में से 7 नवजात सही सलामत हैं. वार्ड में आग लगने की वजह शार्ट सर्किट बताई जा रही है.

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि भंडारा जिला सामान्य अस्पताल में आग लगने की घटना में मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जायेगी. घटना की जांच की जा रही है जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्यवाही की जायेगी.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने ज़िला अस्पताल में आग लगने की घटना को लेकर स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे के साथ-साथ भंडारा ज़िले के ज़िला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से बात की। उन्होंने जांच का भी आदेश दिया है. यह जानकारी मुख्यमंत्री कार्यालय (CMO) ने दी है.

: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि महाराष्ट्र के भंडारा ज़िला अस्पताल में लगी आग दुर्घटना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्‍त परिवारों के साथ हैं। भगवान उन्हें इस अपूरणीय क्षति को सहन करने की शक्ति दे.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it