Top
Home > राज्य > महाराष्ट्र > मुम्बई > दाउद का करीबी एजाज लकड़वाला गिरफ्तार,2003 में ऐसी फैली थी अफवाह की....

दाउद का करीबी एजाज लकड़वाला गिरफ्तार,2003 में ऐसी फैली थी अफवाह की....

साल 2004 के दौरान एजाज को कनाडा पुलिस ने ओटावा से गिरफ्तार किया था. लेकिन कुछ दिनों उसे जेल में रखने के बाद रिहा कर दिया गया था.

 Sujeet Kumar Gupta |  9 Jan 2020 6:44 AM GMT  |  नई दिल्ली

दाउद का करीबी एजाज लकड़वाला गिरफ्तार,2003 में ऐसी फैली थी अफवाह की....
x

अंडरवर्ल्‍ड सरगना दाऊद इब्राहिम का करीबी सहयोगी एजाज लकड़ावाला को गिरफ्तार कर लिया गया है. लकड़ावाला की गिरफ्तारी पटना एयरपोर्ट से हुई है. गिरफ्तारी के बाद उसे 21 जनवरी तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है एजाज लकड़ावा मुंबई के वांछित गैंगस्‍टरों में शामिल था।

साल 2003 में ऐसी अफवाह फैली थी कि बैंकाक में दाउद गिरोह के हमले में वह मारा जा चुका है. हालांकि वह इस हमले में बच गया था. हमले के बाद बैंकाक से कनाडा चला गया और पिछले काफी समय से वहीं रह रहा था.

सूत्रों की माने तो दाऊद इब्राहिम लकड़ावाला से इसलिए नाराज हो गया था कि वह छोटा राजन से हाथ मिला लिया था. इससे पहले मुंबई अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर एजाज लकड़ावाला की बेटी को गिरफ्तार कर लिया गया था. लकड़ावाला की बेटी को फर्जी पासपोर्ट पर विदेश भागने के प्रयास में गिरफ्तार किया गया था.

उसके ऊपर 25 मुकदमे दर्ज हैं. वह अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का करीबी है. इससे पहले मुंबई क्राइम ब्रांच की एंटी एक्सटॉर्शन सेल (AEC) ने एजाज लकड़वाला की बेटी सोनिया लकड़वाला को जबरन वसूली के दूसरे मामले में गिरफ्तार किया गया था. वह अपने पिता के कहने पर बांद्रा के एक बिल्डर से रंगदारी वसूलने के लिए धमकी दे रही थी।

एजाज लकड़वाला महाराष्ट्र पुलिस का मोस्ट वॉन्टेड अपराधी है. कभी किसी दौर में वह छोटा राजन गैंग का मेंबर था. उसके खिलाफ मुंबई और राजधानी दिल्ली में दो दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज हैं. जिनमें रंगदारी, वसूली, हत्या और फिरौती वसूलने के मामले शामिल हैं.

एजाज कभी मुंबई के जोगेश्वरी इलाके में रहता था. उसने बांद्रा के सेंट स्टेनीस्लूस स्कूल से पढ़ाई की. खुफिया सूत्रों के अनुसार, वर्तमान में एजाज कनाडा में रहता है. साल 2003 में एक हमले के बाद वह अस्पताल से फरार हो गया था. इसके बाद उसके साउथ अफ्रीका भाग जाने की ख़बरें आई थी.

लेकिन बाद में साल 2004 के दौरान एजाज को कनाडा पुलिस ने ओटावा से गिरफ्तार किया था. लेकिन कुछ दिनों उसे जेल में रखने के बाद रिहा कर दिया गया था. रिहा होने के बाद वह कई साल तक अंडरग्राउंड रहा. मगर साल 2008 में फिरौती के एक मामले में उसका हाथ होने की ख़बर एजेंसियों को मिली थी. तब से उसका कुछ पता नहीं था. लेकिन अब वो पुलिस के हत्थे चढ़ गया है।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it