Top
Begin typing your search...

महाराष्ट्र की सभी नगरपालिकाओं में 22 दिसंबर से 5 जनवरी तक 14 दिनों का नाइट कर्फ्यू

महाराष्ट्र के शहरी इलाकों में कल से 5 जनवरी तक नाइट कर्फ्यू लगेगा।

महाराष्ट्र की सभी नगरपालिकाओं में 22 दिसंबर से 5 जनवरी तक 14 दिनों का नाइट कर्फ्यू
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई : महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए राज्य के नगर निगम क्षेत्रों में 22 दिसम्बर से पांच जनवरी तक रात 11 बजे से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू की घोषणा की है। बता दें कि भारत में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ पार कर चुका है और अब तक 1 लाख 45 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है।

महाराष्ट्र के शहरी इलाकों में कल से 5 जनवरी तक नाइट कर्फ्यू लगेगा। वहीं यूरोप और मध्य-पू्र्व से आने वालों को 14 दिनों तक इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन होना पड़ेगा। महाराष्ट्र सरकार की तरफ से यह ऐलान ऐसे समय पर किया गया है जब लोग न्यू ईयर का प्लान बना रहे हैं। ऐसे में महाराष्ट्र के अंदर न्यू ईयर के आपके प्लान पर पानी फिर सकता है।

इस बीच कोरोना वायरस के नये प्रकार के तेजी से फैलने के कारण भारत ने 23 से 31 दिसंबर के बीच ब्रिटेन से भारत आने वाली सभी उड़ानों पर रोक लगा दी है। नागर विमानन मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी। अब मंगलवार रात 11 बजकर 59 मिनट तक ब्रिटेन से भारत आने वाली उड़ानों में सवार यात्रियों को विमान उतरने के बाद हवाई अड्डे पर अनिवार्य रूप से आरटी-पीसीआर जांच करानी होगी।

ब्रिटेन में श्रेणी-4 के सख्त लॉकडाउन को लागू किया गया है और सभी अनावश्यक यात्राओं व कार्यक्रमों पर प्रतिबंध है। जिन अन्य देशों और क्षेत्रों ने ब्रिटेन की यात्रा पर प्रतिबंध लगाया है उनमें हांगकांग, इजराइल, ईरान, क्रोएशिया, अर्जेंटीना, मोरक्को, चिली और कुवैत शामिल हैं।

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन सोमवार को सरकार की आपात समिति की एक बैठक की अध्यक्षता करेंगे जिसमें स्थिति की समीक्षा की जाएगी क्योंकि फ्रांस से लगने वाली सीमा पर गाड़ियों का जमावड़ा लग गया है। ट्रकों और अन्य मालवाहक वाहनों के प्रवेश को भी रोक दिया गया है।

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it