Breaking News
Home > Archived > जाट आंदोलन : दिल्ली में गहराया जल संकट, स्कूल भी बंद

जाट आंदोलन : दिल्ली में गहराया जल संकट, स्कूल भी बंद

 Special News Coverage |  21 Feb 2016 7:15 AM GMT

दिल्ली में गहराया जल संकट


नई दिल्ली : जाट आरक्षण आंदोलन का असर दिल्ली पर भी देखने को मिल रहा है। दिल्ली जल बोर्ड के अध्यक्ष कपिल मिश्रा ने बताया कि राजधानी में पानी बिल्कुल खत्म हो चुका है। उन्होंने बताया कि आज सुबह जो पानी की आपूर्ति की गई, वह दिल्ली के पास बचे पानी का अंतिम स्टॉक था।

कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर लोगों को जल संकट की गंभीरता के बारे में बताया और उनसे शांति बरतने की अपील की। उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार ने इस संकट का हल निकालने के लिए सुप्रीम कोर्ट, केंद्र सरकार और हरियाणा सरकार से संपर्क किया है।





स्थिति की गंभीरता को देखते हुए राजधानी में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, भारत के मुख्य न्यायाधीश, रक्षा संस्थानों, अस्पतालों और दमकल को छोड़कर सभी जगहों पर पानी आपूर्ति में बराबर कटौती किए जाने का फैसला किया गया है। केजरीवाल ने कहा कि सभी लोगों के लिए पानी का समान वितरण किया जाएगा। लोगों से अपील की गई है कि वे सावधानी व किफायत से पानी का इस्तेमाल करें। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के पास पानी नहीं बचा है। उन्होंने बताया कि फिलहाल दिल्ली को पानी मिलने की उम्मीद भी नहीं है। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए सरकार ने सोमवार को दिल्ली के सभी निजी व सरकारी स्कूलों को बंद रखने का आदेश दिया है।




दिल्ली सरकार ने इस मामले में शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था। सरकार ने याचिका दायर कर जल्द-से-जल्द पानी आपूर्ति को बहाल किए जाने का आग्रह किया था। अदालत ने याचिका स्वीकार कर ली थी। इस मामले पर आज सुनवाई होनी है। पानी संकट पर मनीष सिसोदिया ने शनिवार शाम को गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात की थी। सिसोदिया ने अपनी मुलाकात में इस मसले पर तत्काल कार्रवाई किए जाने की जरूरत पर जोर दिया था।

शनिवार को इस मसले पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने फोन पर और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और मंत्री कपिल मिश्रा ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर जाकर मामले की जानकारी दी। इसके बाद केंद्र और हरियाणा सरकार ने जल्द मुनक नहर से पानी आपूर्ति शुरू कराने का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि मुनक नहर की सुरक्षा के लिए सेना को भेजा जाएगा।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को कहा था कि दिल्ली के पास सिर्फ रविवार तक का पानी है, उसके बाद सरकार पानी की आपूर्ति नहीं कर सकेगी। उन्होंने बताया था कि सिर्फ 2 प्लांट चालू हैं। भागीरथी प्लांट की क्षमता 107 एमजीडी की है और सोनिया विहार स्थित प्लांट की क्षमता 143 एमजीडी है। यही दोनों प्लांट काम कर रहे हैं। इन दोनों प्लांट में पानी की आपूर्ति गंगा नहर से होती है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top