Top
Begin typing your search...

गिरफ्तार हुए छगन भुजबल की आज कोर्ट में पेशी, NCP ने बताया - राजनीतिक साजिश

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
bhujbal arrested


मुंबई : प्रवर्तन निदेशालय द्वारा गिरफ्तार किए गए महाराष्ट्र के पूर्व उप मुख्यमंत्री छगन भुजबल को आज यहां विशेष पीएमएलए अदालत में पेश किया जाएगा। भुजबल की गिरफ्तारी के बाद महाराष्ट्र की राजनीती एक बार फिर गरमा गयी है। वहीं, एनसीपी नेता तारिक अनवर ने कहा कि कार्रवाई राजनीति से प्रेरित है, सच्चाई सामने आएगी।

पूछताछ के बाद कल हुए थे गिरफ्तार
आपको बता दें कल कई घंटे की पूछताछ के बाद बीती रात वरिष्ठ राकांपा नेता को गिरफ्तार करने वाली जांच एजेंसी ईडी आगे की पूछताछ के लिए अदालत से उन्हें हिरासत में सौंपे जाने की अपील करेगी। ईडी के एक अधिकारी के अनुसार, दस घंटे की पूछताछ के दौरान सहयोग से कथित रूप से इंकार करने के बाद पूर्व लोक निर्माण मंत्री को धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत गिरफ्तार कर लिया गया ।


, NCP ने बताया - राजनीतिक साजिश
एनसीपी ने वरिष्ठ पार्टी नेता छगन भुजबल की गिरफ्तारी को बीजेपी की प्रतिशोध की राजनीति करार दिया और कहा कि उनकी गिरफ्तारी की जरूरत नहीं थी क्योंकि वह प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के साथ सहयोग कर रहे थे।

एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि यह बीजेपी की प्रतिशोध की राजनीति है। उनको गिरफ्तार करने की जरूरत नहीं थी क्योंकि वह ईडी के साथ सहयोग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय बिना उनको गिरफ्तार किए आरोपपत्र दाखिल कर सकता था। यह बीजेपी शासन की सोच को दिखाती है। एनसीपी भुजबल के समर्थन में है।

वहीं मुंबई के ईडी दफ्तर के बाहर पुलिस की कड़ी सुरक्षा है। ईडी दफ्तर के बाहर धारा 144 लागू है। पुलिस के साथ साथ दंगा विरोधी बल भी मौजूद है। भुजबल को मुंबई के ईडी दफ्तर में गिरफ्तार करके रखा गया है। ईडी आज छगन भुजबल को मुंबई के सेशन्स कोर्ट में पेश करेगा।


छगन भुजबल महाराष्ट्र सदन घोटाला और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किए गए हैं। नए महाराष्ट्र सदन का निर्माण 100 करोड़ रुपये की लागत से किया गया था और तब राज्य में एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन की सरकार थी।


भुजबल की गिरफ्तारी एक ऐसे नेता पर कानूनी शिकंजे का कसना है जिसे महाराष्ट्र की राजनीति में कद्दावर माना जाता रहा है। पिछले 50 सालों में वह दो बार मुंबई के मेयर रह चुके हैं और दो बार राज्य के उप मुख्यमंत्री। इतना ही नहीं वह एक ऐसे नेता हैं जो राज्य के तकरीबन सभी अहम पदों पर काबिज रह चुका है।
Special News Coverage
Next Story
Share it