Top
Begin typing your search...

कोल्लम के मंदिर में आग लगने से 84 की मौत, 200 से ज्यादा भक्तों के झुलसने की आशंका

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

 केरलः कोल्लम के मंदिर में आग लगने से 77 की मौत, 200 से ज्यादा भक्तों के झुलसने की आशंका

मंदिर में आतिशबाजी के दौरान हुआ हादसा। नवरात्र के दौरान बीती रात केरल के पुत्तिंगल मंदिर में आग लगने से अब तक 84 लोगों की मौत हो चुकी है। स्थानीय पुलिस ने मरने वालों की संख्या की पुष्टि की है। हादसे में 200 से ज्यादा लोगों के घायल होने की भी आशंका है।



हादसा केरल के कोल्लम के पारावुर में स्थित पुत्तिंगल मंदिर का है. जहां आतिशबाजी के दौरान भीषण आग लग गई। हादसे में मरने वालों की संख्या पहले 20 थी। यह संख्या और बढ़ सकती है। फिलहाल घायलों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।



मंदिर में शुक्रवार देर रात 11.45 बजे आतिशबाजी शुरू हुई थी और यह सुबह 4 बजे तक चली। खबरों के मुताबिक मंदिर के पंडाल में करीब 3.30 बजे आग लगी। इसके काफी देर तक किसी को आग की खबर तक नहीं लगी. लोगों को यह आतिशबाजी का धुआं लग रहा था और इसीलिए आग ने इतना भीषण रूप ले लिया। इस हादसे में देवास्वोम बोर्ड बिल्डिंग पूरी तरह बर्बाद हो गई है।



थोड़ी देर में राज्य के गृहमंत्री रमेश चेन्नीथाला घटनास्थल पर पहुंचेंगे। स्वास्थ्य मंत्री वीएस शिवकुमार ने भी त्रिवेंदरम मेडिकल कॉलेज और कोल्लम जनरल अस्पताल में सभी जरूरी इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं। हादसे के मद्देनजर केरल के मुख्यमंत्री ओमान चांडी आज सभी कार्यक्रमों को रद्द कर घटनास्थल का दौरा करेंगे।


आतिशबाजी मंदिर की परंपरा
बता दें कि यह हादसा आतिशबाजी की वजह से हुआ है। पुत्तिंगल देवी के मंदिर में बड़े स्तर पर आतिशबाजी करना आम बात है। खासतौर पर नए साल के अवसर पर। 14 अप्रैल को मलयालम नववर्ष शुरू होने जा रहा है। इसलिए यहां आतिशबाजी की जा रही थी।




Special News Coverage
Next Story
Share it