Home > Archived > जेएनयू में देशद्रोह के सभी आरोपी मौजूद, संघ के खिलाफ नारेबाजी,पुलिस कैंपस में नहीं घुस सकी

जेएनयू में देशद्रोह के सभी आरोपी मौजूद, संघ के खिलाफ नारेबाजी,पुलिस कैंपस में नहीं घुस सकी

 Special News Coverage |  22 Feb 2016 2:50 AM GMT


umar_145609307175_650x425_022216034856
नई दिल्ली
जेएनयू में देश विरोधी नारेबाजी के आरोपी और फरार चल रहे उमर खालिद सहित पांच छात्र रविवार शाम 6 से 8 बजे के बीच वापस कैंपस में लौट आए हैं। इस बाबत सूचना मिलते ही आधी रात को पुलिस छात्रों की तलाश में जेएनयू पहुंच गई। हालांकि, पुलिस को कैंपस में प्रवेश की अनुमति नहीं मिली। आरोपी पांचों छात्र वाइस चांसलर से मिलने की कोश‍िश कर रहे हैं और इस मुलाकात के बाद ही अगला कदम उठाएंगे।

कैंपस में मौजूद खालिद ने 'आज तक' से बातचीत की. खालिद और उसके साथी एडमिन ब्लॉक में मौजूद हैं और वहां से हटने को तैयार नहीं हैं। एडमिन ब्लॉक में करीब 250 छात्रों का जमावड़ा है। 'आज तक' से बातचीत में खालिद ने कहा कि पुलिस चाहे तो उन्हें गिरफ्तार कर सकती है। मैं आतंकवादी नहीं हूं। मेरे पास पाकिस्तान का पासपोर्ट नहीं है।


खालिद ने कहा, पिछले कुछ दिनों में मुझे कुछ ऐसी बातें पता चलीं, जो मैं नहीं जानता था। मुझे पता चला कि मैं मई में 2 बार पाकिस्तान जा चुका हूं. मेरा नाम उमर खालिद है लेकिन मै आंतकवादी नहीं हूं। मुझे पता चला की मैं मास्टरमाइंड हूं और ये कार्यक्रम मैंने 17-18 यूनिवर्सिटी में चलाया हुआ है।'

खालिद ने नहीं दिया भाषण
खालिद के साथ विश्वविद्यालय के सैकड़ों छात्र सभा कर रहे हैं। खबर है कि उमर और उसके साथी सोमवार सुबह वसंत विहार थाने में सरेंडर कर सकते हैं। उनके साथ बाकी छात्र भी गिरफ्तार होने को तैयार हैं। कैंपस में आरोपियों के वकील भी मौजूद हैं। खालिद ने बताया कि उसने कोई भाषण नहीं दिया है। साथ ही उसने 9 फरवरी को देशविरोधी नारे लगाने से भी इनकार किया। खबर है कि पुलिसबल सादी वर्दी में वहां मौजूद है और आरोपियों के सरेंडर का इंतजार कर रही है, ऐसा ना करने पर पुलिस उन्हें गिरफ्तार भी कर सकती है। अभी तक जेएनू प्रशासन की और से कोई भी बयान नहीं आया है।



संघ के खिलाफ नारेबाजी
इससे पहले पुलिस से जुड़े सूत्रों ने कहा, 'हमें सूचना मिली थी कि वो कैंपस में मौजूद हैं। सूचना मिलते ही एक टीम कैंपस पहुंची।' बताया जाता है कि शाम को उमर खालिद ने कैंपस में भाषण दिया और संघ के खि‍लाफ नारेबाजी भी की। कैंपस के सूत्रों से पता चला है कि रविवार शाम को उमर खालिद ने छात्रों की एक टुकड़ी को संबोधि‍त भी किया है। बताया जाता है कि कैंपस में करीब 100-150 छात्रों ने मीटिंग की है। मीटिंग के दौरान छात्रों ने कन्हैया की रिहाई को लेकर भी नारेबाजी की।

JNU प्रशासन ने पुलिस को अंदर प्रवेश से रोका
दूसरी ओर, मामले में जेएनयू प्रशासन ने कोई भी बयान नहीं दिया और ना कोई जानकारी साझा की। प्रशासन ने पुलिस को कैंपस के अंदर प्रवेश की अनुमति भी नहीं दी। जिस पर पुलिस का ने कहा कि वह मामले में कोई जल्दबाजी नहीं करेगी और यूनिवर्सिटी की ओर से इजाजत का इंतजार करेगी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top