Top
Begin typing your search...

पठानकोट: दिलेरी के साथ शहीद हुए लेफ्टिनेंट कर्नल निरंजन, देश कर रहा है इन शहीदों को सलाम

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
Pathankot Attack - Lieutenant Colonel ​Niranjan


पठानकोट (पंजाब) : पठानकोट में हुए आतंकी हमले में एनएसजी के लेफ्टिनेंट कर्नल निरंजन समेत कुल 7 लोग शहीद हुए हैं। निरंजन NSG के बम निरोधक दस्ते के सदस्य थे।

पठानकोट एयरबेस पर शनिवार सुबह हुए आतंकवादी हमले के बाद NSG के लेफ्टिनेंट कर्नल निरंजन एक आतंकवादी की लाश को अपने कब्जे में करने की कोशिश कर रहे थे। उसी दौरान आतंकी के शव में लगे हुए IED में धमाका होने के बाद वह घायल हो गए। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्होंने रविवार सुबह अस्पताल में आखिरी सांस ली।

Lieutenant Colonel ​Niranjan

रिपोर्ट्स में रक्षा सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि निरंजन केरल के रहने वाले थे। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने उनकी शहादत पर शोक जताया। उन्होंने कहा कि निरंजन की शहादत की खबर से दुख पहुंचा है और देश उन्हें सलाम करता है। केरल के मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने भी निरंजन की मौत पर शोक जताया।




देश कर रहा है इन शहीदों को नमन :

subedar fateh singh

स्वर्णपदक विजेता पूर्व अंतरराष्ट्रीय राइफल निशानेबाज सूबेदार मेजर (सेवानिवृत्त) फतेह सिंह शनिवार को पठानकोट में आतंकवादियों से लड़ते हुए शहीद हो गए। 51 साल के फतेह सिंह डिफेंस सिक्यॉरिटी कोर का हिस्सा थे, और फिलहाल, डोगरा रेजिमेंट के साथ थे।

kulvant singh

शहीद होने वाले जवानों में गुरदासपुर के हवलदार कुलवंत सिंह भी शामिल हैं। वह कुछ दिन की छुट्टी पर घर गए थे, और 29 दिसंबर को ही ड्यूटी पर एयरफोर्स स्टेशन लौटे थे।

gurusevak singh

गार्ड कमांडो गुरुसेवक सिंह शुरुआती गोलीबारी का निशाना बने और शहीद हो गए। गोली लगने के बावजूद उन्होंने लड़ाई जारी रखी और मेडिकल हेल्प पहुंचने से पहले ही प्राण त्याग दिए। अंबाला के रहने वाले गुरुसेवक सिंह की शादी एक महीने पहले हुई थी।
Special News Coverage
Next Story
Share it