Top
Begin typing your search...

नितिन गडकरी बोले, RTO सबसे भ्रष्ट - चंबल के डकैतों से ज्यादा बड़े लुटेरे हैं

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
Niitin gadkari RTO

नई दिल्ली : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही में क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों (RTO) को अपने निशाने पर लिया है। और साथ ही यह भी कहा है कि देश में RTO सबसे अधिक भ्रष्ट है। इसके साथ ही गडकरी ने यह भी कहा है कि RTO लूटपाट के मामले में चम्बल के डकैतों से भी आगे है।

गडकरी ने RTO के दफ्तरों में लगातार बढ़ रहे भ्रष्टाचार को देखते हुए खासतौर पर यह बात कही है कि यदि देश में कोई सबसे अधिक भ्रष्ट इकाई है तो वह RTO ही है और यहाँ चल रही लूट ने चम्बल के डकैतों को भी पीछे कर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया है कि कुछ लोग ऐसे भी है जो परिवहन क्षेत्र में पारदर्शिता और कंप्यूटरीकरण को लेकर सामने आये नए विधेयक के खिलाफ है।

गडकरी ने कहा कि परिवहन के क्षेत्र में पारदर्शिता और कंप्यूटराइजेशन के विरोध में निहित लोगों का निजी स्वार्थ इस बिल के खिलाफ है। उन्होंने कहा, 'मुझे दुख है कि ये अधिकारी हमारे इस बिल के खिलाफ मिथ्या-प्रचार कर रहे हैं और कह रहे हैं कि इससे केंद्र सरकार राज्य के अधिकारों में कटौती करेगी। मुझे दुख होता है कि देश में कहीं भी आसानी से ड्राइविंग लाइसेंस नहीं मिल सकता। इनमें से भी 30 फीसदी लाइसेंस फर्जी होते हैं।'

गडकरी ने यह भी कहा कि अब राज्य साथ आ रहे हैं और वह जल्द ही बिल पेश करेंगे। उन्होंने कहा कि इससे पूरे ट्रांसपोर्ट सेक्टर की शक्ल बदल जाएगी और ड्राइविंग लाइसेंस के लिए किसी व्यक्ति की जरूरत नहीं पड़ेगी। परमिट ऑनलाइन जारी होंगे और इसके अलावा भी तमाम सुधार इस कानून के जरिए होंगे।

गौरतलब है कि नए मोटर कानून के क्रियान्वन में देरी होने की वजह से गडकरी नाराज नजर आ रहे है और इसको देखते हुए ही उनका यह कहना है कि जैसे ही भूतल परिवहन और सुरक्षा विधेयक लागू हो जाता है यह पूरा क्षेत्र भी धीरे-धीरे सुधर जाना है।
Special News Coverage
Next Story
Share it