Top
Begin typing your search...

मोदी-आबे की मौजूदगी में भारत-जापान के बीच बुलेट ट्रेन और सिविल न्यूक्लियर डील पर मुहर

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
PM Modi  and PM Shinzo Abe


नई दिल्ली : भारत और जापान के बीच बुलेट ट्रेन और सिविल न्यूक्लियर डील हो गई है। शनिवार को पीएम मोदी और जापान के पीएम शिंजो आबे की मौजूदगी में इन समझौतों पर सिग्नेचर किए गए। इसके बाद मोदी और आबे ने ज्वाइंट प्रेस कान्फ्रेंस की।

98 हजार करोड़ की इस डील पर करार के बाद दिए गए साझा बयान में पीएम मोदी ने कहा कि यह समझौता भारतीय रेलवे में क्रांति लेकर आएगा। पीएम मोदी ने इस मौके पर जापानियों को वीजा ऑन अराइवल की सुविधा दिए जाने का भी ऐलान किया।

बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए जापान भारत को कुल 12 अरब डॉलर यानी करीब 80,400 करोड़ रुपये का लोन देगा। खास बात यह है कि जापान ने भारत को यह कर्ज महज 0.1 पर्सेंट की ब्याज दर पर दिया है। जापान के साथ मुंबई-अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन चलाने के लिए करार किया गया है।

इससे पहले शनिवार सुबह भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के पीएम शिंजो आबे ने बिजनेस लीडर्स फोरम को संबोधित किया। इस फोरम में शिंजो आबे ने मोदी की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि 'नीतियां लागू करने में पीएम मोदी की रफ्तार बुलेट ट्रेन जैसी ही है। मोदी की आर्थिक नीतियां शिंकानसेन जैसी हैं- हाई स्पीड, सुरक्षित, भरोसेमंद और बहुत से लोगों को साथ लेकर चलने वाली।

शिंजो आबे ने कहा कि “मजबूत भारत मेरे देश जापान के लिए अच्छा है और मजबूत जापान भारत के लिए अच्छा है।” वहीं, पीएम मोदी ने कहा कि भारत को सिर्फ हाई स्पीड ट्रेन ही नहीं, हाई स्पीड ग्रोथ भी चाहिए। मोदी ने भारत और जापान की दोस्ती का परिचय देते हुए कहा कि भारत के हर टर्निंग पॉइंट पर जापान उसके साथ खड़ा हुआ दिखाई देता है।
Special News Coverage
Next Story
Share it