Top
Home > राष्ट्रीय > भारत को आठ दिन में लगा बड़ा झटका, राजनीत के तीन धुरंधर राजनेता खो दिए

भारत को आठ दिन में लगा बड़ा झटका, राजनीत के तीन धुरंधर राजनेता खो दिए

 Special Coverage News |  17 Aug 2018 3:29 AM GMT  |  दिल्ली

भारत को आठ दिन में लगा बड़ा झटका, राजनीत के तीन धुरंधर राजनेता खो दिए
x

भारत पर सात अगस्त से लेकर सोलह अगस्त तक बहुत भारी ग्रह दशा रही. जिसके चलते एक से बढ़कर एक राजनेता को हम खोते चले गये. हालांकि इसको लेकर भविष्यवाणी भी की गई थी कि आने वाले साल में देश के कई बड़े नेता हमसे छीन लिए जायेंगे. हालांकि नाम किसी का नहीं लिया गया था लेकिन बड़े राजनेता की बात चल रही थी.


सात अगस्त

सात अगस्त को तमिलनाडू के पितामह कहे जाने वाले डीएमके नेता एम करुणानिधि की चेन्नई के कावेरी अस्पताल में मौत हो गई. उन्हें तमिलनाडू की जनता सर आँखों पर विठाये थी. उनकी मौत की खबर सुनकर पुलिस को मोर्चा संभलना पडा तब जाकर समर्थक शांत हुए.




तेरह अगस्त

सोमनाथ चटर्जी (२५ जुलाई १९२९ - १३ अगस्त २०१८) एक भारतीय राजनेता थे जो अपने अधिकांश जीवन के लिए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) से जुड़े रहे. ये २००४ से २००९ तक लोकसभा के अध्यक्ष भी रहे. उनके निधन से बंगाल ने एक बड़ा कामरेड खो दिया हालांकि उनके निधन के बाद उनके परिजनों ने उनका शव भी सी.पी.एम. के कार्यालय नहीं ले जाने दिया.




सोलह अगस्त

अटल बिहारी वाजपेयी (अंग्रेज़ी: Atal Bihari Vajpeyee), (२५ दिसंबर १९२४ – १६ अगस्त २०१८) भारत के दसवें प्रधानमंत्री थे. वे पहले १६ मई से १ जून १९९६ तक, तथा फिर १९ मार्च १९९८ से २२ मई २००४ तक भारत के प्रधानमंत्री रहे. वाजपेयी हिन्दी कवि, पत्रकार व एक प्रखर वक्ता थे. वे भारतीय जनसंघ के संस्थापकों में एक थे, और १९६८ से १९७३ तक उसके अध्यक्ष भी रहे. उन्होंने लम्बे समय तक राष्ट्रधर्म, पाञ्चजन्य और वीर अर्जुन आदि राष्ट्रीय भावना से ओत-प्रोत अनेक पत्र-पत्रिकाओं का सम्पादन भी किया. अपना जीवन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक के रूप में आजीवन अविवाहित रहने का संकल्प लेकर प्रारम्भ करने वाले वाजपेयी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के पहले प्रधानमन्त्री थे, जिन्होंने गैर काँग्रेसी प्रधानमन्त्री पद के ५ साल बिना किसी समस्या के पूरे किए. उन्होंने २४ दलों के गठबंधन से सरकार बनाई थी जिसमें ८१ मन्त्री थे.






Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it