Home > नागपुर में RSS की बैठक, भैयाजी जोशी फिर से चुने गए आरएसएस सरकार्यवाह

नागपुर में RSS की बैठक, भैयाजी जोशी फिर से चुने गए आरएसएस सरकार्यवाह

नागपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रतिनिधि सभा की चल रही बैठक में संघ के नए सरकार्यवाह के रूप में दत्तात्रेय होसबोले के नाम को दरकिनार कर एक बार फिर सुरेश भैया जी जोशी को सरकार्यवाह चुना गया है।

 Vikas Kumar |  2018-03-10 11:22:39.0  |  नागपुर

नागपुर में RSS की बैठक, भैयाजी जोशी फिर से चुने गए आरएसएस सरकार्यवाह

नागपुर : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रतिनिधि सभा की बैठक शुक्रवार से नागपुर में शुरू हो गई है। आज इस बैठक में संघ के नए सरकार्यवाह के रूप में दत्तात्रेय होसबोले के नाम को दरकिनार कर एक बार फिर सुरेश भैया जी जोशी को सरकार्यवाह चुना गया है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने सुरेश भैयाजी जोशी को लगातार चौथी बार संगठन का सरकार्यवाह चुना है। वे 2009 से इस पद पर थे। मार्च में उनका कार्यकाल खत्म हो रहा था। इससे पहले चर्चा थी कि संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले को यह जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।

आरएसएस की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की इस बैठक के लिए पूरे देश से करीब 3000 प्रचारकों को नागपुर बुलाया गया था। शनिवार को वर्तमान सरकार्यवाह जोशी ने अपने कार्यकाल के पूरा होने की घोषणा की जिसके बाद चुनाव की विधिवत प्रक्रिया के द्वारा सुरेश भैया जी जोशी को आरएसएस का नया सरकार्यवाह फिर से चुन लिया गया। अब भैयाजी मार्च 2021 तक इस पद पर रहेंगे।

गौरतलब है भैयाजी जोशी को उनकी मौजूदा जिम्मेदारी से मुक्त करने की अटकले थी क्योकि उन्होंने खुद अपने स्वास्थ्य संबंधी कारणों के चलते पदमुक्त होने का आग्रह किया था। लेकिन अब संघ प्रमुख मोहन भागवत के बाद वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में नंबर दो की भूमिका में बने रहेंगे।

आपको बता दें संघ प्रमुख को सरसंघचालक कहते हैं। उनकी भूमिका सलाहकार की होती है। ऐसे में संघ को चलाने के लिए सरकार्यवाह की जरूरत रहती है। संघ में एक ही सरकार्यवाह होता है। उसे महासचिव भी कहते हैं। वह संघ का सबसे बड़ा कार्यकारी अधिकारी होता है।

Tags:    
Share it
Top