Breaking News
Home > गोवा में बीजेपी को मिली धमकी, समस्या नहीं सुलझी तो समर्थन वापस

गोवा में बीजेपी को मिली धमकी, समस्या नहीं सुलझी तो समर्थन वापस

 शिव कुमार मिश्र |  2018-05-24 14:54:00.0  |  गोवा

गोवा में बीजेपी को मिली धमकी, समस्या नहीं सुलझी तो समर्थन वापस

कर्नाटक से सदमें में आई बीजेपी के लिए बुरी खबरों का सिलसिला रुक नहीं रहा है. एबीपी न्यूज के सर्वे में राजस्थान और मध्यप्रदेश दोनों हाथ से निकलते नजर आ रहे है तो केंद्र में भी इतना आसान वापसी के संकेत नहीं मिल रहे है. तब तक गोवा में भी उनके समर्थन करने वाली एक पार्टी ने उन्हें समर्थन वापसी करने की धमकी दे दी है. इस समय यह धमकी बढ़ी ही दिलचस्प है जब पूरा विपक्ष एक मंच पर खड़े होकर एनडीए का विरोध कर रहा है.


मिली जानकारी के मुताबिक गोवा में उनके साथ तीन सदस्सीय दल गोवा फारवर्ड दल के नेता ने जल्द से जल्द खनन समस्या को सुलझाने की बात की है. साथ ही कहा है कि अगर समस्या का निस्तारण जल्द नहीं हुआ तो वे अपने समर्थन पर एक बार पुनर्विचार करेंगे. जब बीजेपी लगातार झटके पर झटके उठा रही हो उस समय यह खबर उसके लिए दुःख दाई साबित होगी. गोवा फारवर्ड के अध्यक्ष व शहरी व ग्रामीण नियोजन मंत्री विजय सरदेसाई ने यहां कहा, अगर भाजपा गोवा में जल्द से जल्द खनन को शुरू नहीं करती है तो उन्हें 2019 लोकसभा चुनाव में दिक्कत हो जाएगी, मैं उनसे जल्द से जल्द इस संकट को सुलझाने की गुजारिश करता हूं. अगर वे ऐसा नहीं करेंगे तो हम अपने समर्थन के बारे में दोबारा सोचेंगे.


गोवा विधानसभा के 40 सदस्यीय विधानसभा में गोवा फारवर्ड के 3 विधायक हैं और यह पार्टी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में भी शामिल है. सरदेसाई ने कहा, कर्नाटक के हश्र के बाद यह सोचा जा सकता था कि भाजपा खनन मुद्दे के हल के लिए तत्काल कदम उठाएगी, लेकिन यह तथ्य जानते हुए कि पार्टी गोवा व केंद्र दोनों जगह सत्ता में है, इसे हल करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया. 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में भाजपा के 14 विधायक हैं और पार्टी गोवा फारवर्ड और महराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के तीन-तीन विधायक और तीन स्वतंत्र विधायकों की सहायता से सत्ता पर काबिज है.

Tags:    

नवीनतम

Share it
Top