Top
Begin typing your search...

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी प्रेस वार्ता

दिहाड़ी मजदूरों और नौकरी करने वालों के लिए हो सकता है बड़ा ऐलान, 2 बजे होगी वित्त मंत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी प्रेस वार्ता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Corona Virus) के संकट से जूझ रही देश की अर्थव्यवस्था (Indian Economy) को राहत देने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister of India) बड़े ऐलान कर सकती है. CNBC आवाज़ को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, नौकरी करने वालों और दिहाड़ी मज़दूरों से जुड़ी कुछ घोषणाएं हो सकती है.

माना जा रहा है कि वित्त वर्ष के लिए एक महीना और बढ़ाया जा सकता है यानी 31 मार्च को खत्म हो रहे वित्त वर्ष को 30 अप्रैल तक बढ़ाने की उम्मीद है. क्योंकि, टैक्स से जुड़ी कई चीजों को अभी तक पूरा नहीं किया गया है.

कोरोना संकट से निपटने के लिए मोदी सरकार जल्द ही बेलआउट पैकेज का ऐलान कर सकती है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 4 दिन पहले राष्ट्र के नाम संबोधन में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में स्पेशल टास्क फोर्स का गठन करने की बात कही थी.

यह टास्क फोर्स मौजूदा हालात में आर्थिक सुधारों को लेकर सुझाव देगी. वित्त मंत्री ने खुद इस बात का ऐलान किया है कि कोरोना से लड़ाई के लिए दान की गई रकम कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी के दायरे में आएगी.

प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले हफ्ते गुरुवार को देश के नाम संबोधन में कहा था कि कोरोनावायरस से दुनिया की अर्थव्यवस्था को भारी असर पड़ा है. हमारे यहां भी इसका आंकलन किया जाना है. दूसरी ओर, कोरोना से लड़ाई के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने एक ट्रिलियन डॉलर के राहत पैकेज का ऐलान किया था. हालांकि, डेमोक्रेट्स ने इसमें अड़ंगा लगा दिया.

चीन के वुहान से संक्रमण की शुरुआत और धीरे-धीरे इसके दूसरे देशों में फैलने से वैश्विक अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान पहुंचा है. भारत, अमेरिका, चीन और जापान समेत कई देशों के शेयर बाजारों में बड़ा उतार चढ़ाव देखा गया. लॉकडाउन के कारण जरूरी की चीजों को छोड़कर अन्य दुकानें और बाजार पूरी तरह बंद रखे गए हैं. इसकी वजह से भी कारोबार ठप हो गया है.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it