Breaking News
Home > राष्ट्रीय > भारतीय विदेश सचिव ने बताया पाकिस्तान में कैसे और क्यों की इतनी बड़ी एयर स्ट्राइक, जैश का सबसे बड़ा ट्रेनिंग कैंप भी हुआ तबाह

भारतीय विदेश सचिव ने बताया पाकिस्तान में कैसे और क्यों की इतनी बड़ी एयर स्ट्राइक, जैश का सबसे बड़ा ट्रेनिंग कैंप भी हुआ तबाह

भारतीय विदेश सचिव ने कहा कि हमने बालाकोट में जैश के सबसे बड़े ट्रेनिंग कैंप पर हमला किया, जिसमें कई बड़े आतंकी, सीनियर कमांडर और जेहादी मारे गए हैं।'

 Special Coverage News |  26 Feb 2019 6:56 AM GMT  |  दिल्ली

भारतीय विदेश सचिव ने बताया पाकिस्तान में कैसे और क्यों की इतनी बड़ी एयर स्ट्राइक, जैश का सबसे बड़ा ट्रेनिंग कैंप भी हुआ तबाह

नई दिल्ली : पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान में घुसकर कई आतंकियों को मार गिराया है। भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर किए गए हमले की पुष्टि करते हुए भारत साफ किया किया कि भारतीय लड़ाकू विमानों ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों को नष्ट कर दिया है। भारतीय विदेश सचिव गोखले ने कहा कि इस हमले में जैश के कई आतंकी मारे गए हैं।

'जैश का सबसे बड़ा ट्रेनिंग कैंप तबाह'

विदेश सचिव गोखले ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि पुख्ता खुफिया सूचना के बाद भारत ने जैश के ठिकानों पर नॉन मिलिटरी ऐक्शन के तहत हमला किया गया। विजय गोखले ने कहा, 'इस सूचना के बाद कि जैश के आतंकी भारत में और आत्मघाती हमले करने के फिराक में है, भारत द्वारा हमला करना जरूरी हो गया था। हमने बालाकोट में जैश के सबसे बड़े ट्रेनिंग कैंप पर हमला किया, जिसमें कई बड़े आतंकी, सीनियर कमांडर और जेहादी मारे गए हैं।'

भारत ने बताया क्यों किया हमला

विदेश सचिव गोखले ने कहा कि 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में आत्मघाती आतंकी हमले में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का हाथ था। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इसके अलावा ऐसी भी सूचना थी कि जैश के आतंकी भारत में एकबार फिर आत्मघाती हमले को अंजाम देने की साजिश रच रहे हैं। जैश पाकिस्तान में पिछले 20 साल से आतंकी साजिश रच रहा है लेकिन पाकिस्तान उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। जैश सरगना मसूद अजहर अंरराष्ट्रीय आतंकवादी है। जैश 2001 में भारतीय संसद पर आतंकवादी हमले और जनवरी 2016 में पठानकोट हमले में शामिल रहा है। पाकिस्तान को इस आतंकी संगठन के बारे में कई जानकारी दी गई थी। भारत जैश के खिलाफ कार्रवाई की लगातार मांग करता रहा है। बिना पाकिस्तान के संरक्षण के सैकड़ों जिहादी पैदा नहीं हो सकते हैं।

गोखले ने बताया कैसे किया हमला

विदेश सचिव ने बताया कि एक खुफिया जानकारी के बाद भारत ने एक नॉन मिलिटरी ऐक्शन की तैयारी की। उन्होंने कहा कि इसके बाद जैश के बालाकोट में हमला कर जैश के कैंप को तबाह कर दिया गया। इस हमले में जैश के कई बड़े आतंकी, ट्रेनर, सीनियर कमांडर और जिहादी मारे गए। इस कार्रवाई में इस बात का ख्याल रखा गया कि आम नागरिकों को इससे कोई नुकसान नहीं हो।

पाकिस्तान जैश के खिलाफ नहीं कर रहा था कार्रवाई: गोखले

गोखले ने कहा, '20 साल से जैश पाकिस्तान से आतंक की साजिश रच रहा है। पाकिस्तान को कई बार जानकारी देने के बाद भी वह इन आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई से बचता रहा है। भारत का यह हमला बालाकोट में जैश के घने जंगलों में स्थित आतंकी ठिकानों पर किया गया ताकि आम नागरिकों को कोई नुकसान नहीं पहुंचे।'

'मसूद का साला चलाता है बालाकोट आतंकी कैंप'

उन्होंने कहा कि बालाकोट में जैश के आतंकी कैंप को जैश सरगना मसूद अजहर का साला मौलाना यूसुफ अजहर चलाता है। उन्होंने कहा, ' हमने कुछ देर पहले हमला किया है। पाकिस्तान अपनी धरती से आतंकियों को खत्म करने के लिए कोई कदम नहीं उठा रहा है। भारत ने आतंक को खत्म करने के लिए नॉन मिलिटरी ऐक्शन के जरिए आतंकी ठिकानों को तबाह किया है। उम्मीद है कि पाकिस्तान जैश और अन्य आतंकी संगठनों के टेरर कैंपों को खत्म करेगा।'

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top