Top
Home > राष्ट्रीय > NEET टॉपर बने शोएब आफताब, 720 में से 720 लाकर रचा इतिहास

NEET टॉपर बने शोएब आफताब, 720 में से 720 लाकर रचा इतिहास

 Shiv Kumar Mishra |  17 Oct 2020 3:35 PM GMT  |  दिल्ली

NEET टॉपर बने शोएब आफताब, 720 में से 720 लाकर रचा इतिहास
x

देश में भयानक फैली कोरोना Corona महामारी के बीच हुए National Eligibility and Entrance Test (NEET) में उड़ीसा के शोएब आफताब ने टॉप किया है। देश में शोएब की रैंक नंबर 1 आई है। उन्हें 99.99 प्रतिशत अंक प्राप्त हुए हैं। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने इसकी अधिकारिक घोषणा अपनी वेबसाइट पर दी है।

13 सितंबर को हुआ नीट एग्जाम काफी चर्चा में रहा था। क्योंकि कोरोना के बढ़ते खतरे की वजह से छात्र इसे टालने की मांग कर रहे थे लेकिन सरकार ने सब मांगों को अनसुना करके परीक्षा कराई। लॉकडाउन के दौरान शोएब आफताब ने घर ना जाकर राजस्थान में परीक्षा की तैयारी की। आज उनकी मेहनत सफल हो गई। शोएब आफताब के नीट में सफल हो जाने पर एक बहस और छिड़ गई है। क्या शोएब की इस दिन-रात की मेहनत और लगन को कोई नफरती एंकर या संस्थान किसी फर्जी जिहाद थ्योरी से जोड़कर दिखाएगा ?

NEET 2020: ये हैं नीट 2020 के टॉप 10 स्टूडेंट्स

शोएब अफ्ताब - 720 अंक (ओडिशा)

आकांक्षा सिंह - 720 अंक (दिल्ली)

तुम्मला स्निकिथा - 715 अंक (तेलंगाना)

विनीत शर्मा - 715 (राजस्थान)

अमृषा खेतान - 715 (हरियाणा)

गुथी चैतन्य सिंधु - 715 (आंध्र प्रदेश)

सात्विक गोडारा - 711 (हरियाणा)

सृजन आर - 710 (तमिलनाडु)

कार्तिक रेड्डी - 710 (कर्नाटक)

मात्रवाडिया मानित - 710 (गुजरात)

अंक समान होने पर भी परसेंटाइल में थोड़ा अंतर है। परसेंटाइल के अनुसार मेरिट लिस्ट तैयार हुई है। जिसके अनुसार ऑल इंडिया रैंक दी गई है।

अगर दिखाएगा तो क्या इस बहस पर सरकार और संस्थाएं चुप रहेंगी ? कुछ दिन पहले देश की सबसे कठिन परीक्षाओं कराने वाली संस्था UPSC पर एक नफरत भरा शो बनाकर चलाया गया था। जिसपर काफी विवाद हुआ था। लेकिन सरकार की खामोशी और संस्था की खामोशी पर काफी सवाल उठे थे। अंत में मामला जब उच्चतम न्यायालय पहुंचा तो कोर्ट ने उस नफरती शो के एंकर को जमकर फटकारा।

लेकिन सरकार की चुप्पी और संस्था की चुप्पी काफी सवाल खड़े कर गई। उस नफरत भरे एंकर ने अपनी बेहूदी दलीलों से यूपीएससी परीक्षा पर सवाल खड़े कर दिए। उसकी फर्जी और प्रोपेगैंडा दलीलों पर किसी एसोशिएशन ने एतराज नहीं जताया। क्या अब वही दलीलें नीट एग्जाम के टॉपर पर दी जाए़गी ? क्या इसे भी नीट जिहाद जैसी फर्जी संज्ञा दे दी जाएगी ?

आपको बता दें कि, शोएब आफताब ने पूरे कोरोना महामारी के दौरान रात-दिन एक करके मेहनत की। आज उसकी मेहनत सबको दिख रही है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it