Home > राष्ट्रीय > गजब की नोटंकी चल रही है: कांग्रेस को मर जाना चाहिए और तभी प्रणव दा चुनाव आयोग की तारीफ़ कर हुए चिंताग्रस्त!

गजब की नोटंकी चल रही है: कांग्रेस को मर जाना चाहिए और तभी प्रणव दा चुनाव आयोग की तारीफ़ कर हुए चिंताग्रस्त!

 Special Coverage News |  21 May 2019 12:07 PM GMT  |  दिल्ली

गजब की नोटंकी चल रही है: कांग्रेस को मर जाना चाहिए और तभी प्रणव दा चुनाव आयोग की तारीफ़ कर हुए चिंताग्रस्त!

गिरीश मालवीय

जैसे ही एग्जिट पोल का रिजल्ट सामने आया वैसे ही योगेन्द्र यादव फट पड़े. एग्जिट पोल के परिणामों को सही बताते हुए बोले, "कांग्रेस को निश्चित रूप से मर जाना चाहिए, यदि इस चुनाव में कांग्रेस आइडिया ऑफ इंडिया को बचाने के लिए बीजेपी को रोकने में असफल रहती है. इस पार्टी का इतिहास में कोई सकारात्मक रोल नहीं रहा है. आज कांग्रेस वैकल्पिक राजनीति को बनाने में एक मात्र सबसे बड़ी बाधा है."

यह बात सुनते ही मध्यप्रदेश के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने 'शुभस्य शीघ्रम' की नीति पर अमल करते हुए राज्यपाल को चिट्ठी लिख मारी बोले कि जल्दी से जल्दी विधानसभा सत्र बुलाइये, योगेंद्र यादव जी के यज्ञ में पहली आहुति हम ही डालेंगे. मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार अल्पमत में है.

यह देखकर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब दा को भी जोश आ गया उन्होंने भी बयान दे दिया कि इस बार चुनाव आयोग ने बहुत अच्छा काम किया है 2019 के लोकसभा चुनाव को उन्होंने 'बखूबी' आयोजित किया..... मुखर्जी ने कहा, 'आप उनकी आलोचना नहीं कर सकते, चुनावों का बहुत बेहतर आयोजन किया है. सभी तीनों चुनाव आयुक्त बहुत अच्छा काम कर रहे हैं जबकि एक दिन पहले ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया था कि चुनाव आयोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने समर्पण कर दिया है.

पर कुछ देर पहले ही प्रणव मुखर्जी चिंताग्रस्त हो गये है कल तक उन्हें सब बढ़िया नजर आ रहा था अब बोल रहे कि 'ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की खबरों से मैं चिंतित हूं, ईवीएम की सुरक्षा चुनाव आयोग की जिम्मेदारी है। प्रणव मुखर्जी ने कहा है कि आयोग को कुछ ऐसा करना चाहिए, जिससे इस तरह के कयासों पर विराम लगाया जा सके'

गजब की नोटंकी चल रही है .

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it
Top