Top
Home > राष्ट्रीय > चीन के कब्जे में भारत का 40 KM, राहुल ने रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल का लेख शेयर कर कहा-देशभक्त जरूर पढ़ें

'चीन के कब्जे में भारत का 40 KM', राहुल ने रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल का लेख शेयर कर कहा-देशभक्त जरूर पढ़ें

दरअसल रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल एचएस पनाग ने आर्टिकल में दावा किया है कि छह जून की बातचीत में चीन का पलड़ा भारी रहेगा. है.

 Arun Mishra |  5 Jun 2020 4:37 PM GMT

भारत और चीन के बीच गतिरोध को दूर करने के मकसद से शनिवार को अगले दौर की बातचीत होगी. उम्मीद है कि पूर्वी लद्दाख में जारी गतिरोध खत्म हो जाएगा. वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक न्यूज वेबसाइट पर पब्लिश रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल के आर्टिकल को ट्वीट करते हुए कहा कि सभी देशभक्तों को जनरल पनाग का आर्टिकल जरूर पढ़ना चाहिए.

दरअसल रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल एचएस पनाग ने आर्टिकल में दावा किया है कि छह जून की बातचीत में चीन का पलड़ा भारी रहेगा. क्योंकि चीन ने पूर्वी लद्दाख के तीन अलग-अलग इलाकों में भारत के करीब 40 से 60 स्क्वैयर किलोमीटर जमीन पर घुसपैठ कर ली है.

राहुल गांधी ने कोट किया इनकार कोई समाधान नहीं

राहुल गांधी ने इस आर्टिकल को ट्वीट करते हुए कहा कि सभी देशभक्तों को जनरल पनाग का लेख जरूर पढ़ना चाहिए. इसके साथ ही उन्होंने आर्टिकल की एक पंक्ति कोट करते हुए लिखा, 'इनकार कोई समाधान नहीं है.'



चीन भारत पर निर्माण कार्य रोकने का डाल सकता है दबाव

बता दें कि जनरल पनाग ने 2014 में आम आदमी पार्टी (AAP) जॉइन कर ली थी. वो एक्टर गुल पना के पिता हैं. उन्होंने अपने आर्टिकल में लिखा कि चूंकि चीन के पास हमारी जमीन है, इसलिए वह विवाद सुलझाने के लिए वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास भारतीय बॉर्डर पर आधारभूत ढांचे का निर्माण कार्य रोकने के लिए दबाव डाल सकता है.

भारत को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि 1 अप्रैल, 2020 तक की यथास्थिति बहाल हो

जनरल पनाग ने आगे लिखा कि भारत को सुनिश्चित करना चाहिए कि असीमांकित एलएसी (LAC) पर 1 अप्रैल, 2020 तक की यथास्थिति बहाल हो, ताकि चीन सामरिक बढ़त हासिल करने या अपनी मर्जी से भारत को अपमानित करने के लिए भविष्य में इस तरह की जबरदस्ती ना करे.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Arun Mishra

Arun Mishra

Arun Mishra


Next Story

नवीनतम

Share it