Home > DU की दूसरी कटऑफ लिस्ट आज होगी जारी, 2 फीसदी गिरावट की संभावना

DU की दूसरी कटऑफ लिस्ट आज होगी जारी, 2 फीसदी गिरावट की संभावना

DU की दूसरी कटऑफ सूची आज देर रात तक जारी हो जाएगी। शनिवार से दूसरी कटऑफ के आधार पर दाखिले लिए जाएंगे।

 Special Coverage News |  2017-06-30 08:34:21.0

DU की दूसरी कटऑफ लिस्ट आज होगी जारी, 2 फीसदी गिरावट की संभावना

नई दिल्ली: DU की दूसरी कटऑफ सूची आज देर रात तक जारी हो जाएगी। शनिवार से दूसरी कटऑफ के आधार पर दाखिले लिए जाएंगे। विश्वविद्यालय सूत्रों के मुताबिक दूसरी कटऑफ में अधिकतम 1.5 फीसदी तक गिरावट दर्ज की जा सकती है। पहली कटऑफ के बाद लगभग 14 हजार छात्रों के दाखिले हो चुके हैं।

अब डीयू की स्नातक की बची हुई 42 हजार सीटों पर दाखिले का मुकाबला होगा। कई कॉलेजों के कुछ पाठ्यक्रमों में पहली कटऑफ के बाद ही पूरी सीटें भरी जा चुकी हैं। डीयू ने 23 जून को पहली कटऑफ जारी की थी, जिसके आधार पर दाखिला प्रक्रिया बुधवार को खत्म हो गई। डीयू के टॉप कॉलेजों में सामान्य वर्ग के छात्रों की कटऑफ लगभग 0.25 से एक फीसदी तक कम होने की संभावना हैं।
वहीं आरक्षित वर्ग के छात्रों के लिए कटऑफ 1.5 फीसदी तक कम हो सकती है। लेडी श्रीराम कॉलेज के अधिकतर पाठ्यक्रम में सामान्य वर्ग की सभी सीटों पर दाखिले हो गए हैं। अभी कॉलेज में मनोविज्ञान, पत्रकारिता और अंग्रेजी ऑनर्स ही ऐसे पाठ्यक्रम हैं जहां सामान्य श्रेणी के छात्रों के लिए भी दूसरी कटऑफ सूची जारी की जाएगी।
वहीं अरविंदो कॉलेज में भी 0.25 फीसदी से 1.5 फीसदी तक कटऑफ कम होने का अनुमान है। कॉलेज के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक सामान्य वर्ग की कटऑफ 0.5 फीसदी तक जबकि आरक्षित वर्ग की अधिकतम 1.5 फीसदी कम होगी। अरविंदों कॉलेज में बीए (ऑनर्स) राजनीतिक विज्ञान और बीएससी लाइफ साइंस में सामान्य श्रेणी की सभी सीटों पर दाखिले पूरे हो गए हैं।
रामजस कॉलेज में सभी पाठ्यक्रमों के लिए दूसरी कटऑफ जारी होगी। कॉलेज में अंग्रेजी ऑनर्स की कटऑफ में काफी गिरावट आ सकती है। पहली कटऑफ के बाद अंग्रेजी की 62 सीटों में से सिर्फ 15 सीटें भरी जा सकी हैं। साइंस की कटऑफ सबसे अधिक गिरेगी दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेजों में साइंस के पाठ्यक्रमों की कटऑफ में कला और कॉमर्स के पाठ्यक्रमों के मुकाबले अधिक गिरने की संभावना है।
DU के सूत्रों के मुताबिक विज्ञान के कई पाठ्यक्रमों में कई कॉलेजों में दूसरी कटऑफ 2 फीसदी तक कम होगी। पहली कटऑफ के बाद कॉलेजों में विज्ञान के पाठ्यक्रमों में कम दाखिले हुए हैं। साइंस की दूसरी कटऑफ अधिक कम होने की एक और वजह यह हो सकती है कि 23 आईआईटी और 31 एनआईटी में दाखिले की काउंसिल करने वाली संस्था ज्वाइंट सीट अलोकेशन अथॉरिटी (जोसा) ने सीट देने की पहली सूची जारी कर दी है।

Tags:    
Share it
Top