Home > इस लडकी ने रचा विश्व में इतिहास, लाइलाज बीमारी कैंसर को कैसे ठीक कर बचा ली अपने बाप की जान, जरूर पढ़ें

इस लडकी ने रचा विश्व में इतिहास, लाइलाज बीमारी कैंसर को कैसे ठीक कर बचा ली अपने बाप की जान, जरूर पढ़ें

इस घटना को जरुर पढ़ें

 शिव कुमार मिश्र |  2017-05-17 02:58:56.0  |  दिल्ली

इस लडकी ने रचा विश्व में इतिहास, लाइलाज बीमारी कैंसर को कैसे ठीक कर बचा ली अपने बाप की जान, जरूर पढ़ें

नवजात बच्चे के लिए मां का दूध काफी जरूरी होता है. हालांकि ये बातें तो लगभग हर कोई जानता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि 'ब्रेस्ट मिल्क' कैंसर के इलाज के लिए भी बेहद उपयोगी है. स्वीडन की एक प्रोफ़सर ने ये दावा किया है कि ब्रेस्ट मिल्क से कैंसर का इलाज संभव है. रिसर्च के मुताबिक, ब्रेस्ट मिल्क में हमलेट नाम का पदार्थ पाया जाता है, जो ट्यूमर सेल्स को नष्ट करने में सहायक है.


ऐसे ही केस के बारे में कैथरीना बताती हैं '2015 में 64 साल के फ्रेड व्हाइट लॉ बॉवल कैंसर से पीड़ित थे. ये बात जब उनकी 30 साल की बेटी जिल को पता चली, तो पिता को खोने से काफी डरी हुई थी. लेकिन इस दौरान जिल को ब्रेस्ट मिल्क की रिसर्च के बारे में पता चला. ये बात जब उन्होंने अपनी परिवार से शेयर की तो सबको लगा वह मजाक कर रही है.

वहीं, दूसरी तरफ जिल को डर था कि उसके पिता उसका ब्रेस्ट मिल्क नहीं पीएंगे. ऐसे में जिल ने किसी तरह उन्हें मनाकर ये दूद पिलाने के लिए राजी किया. आज उनके पिता स्वस्थ हैं. पिता के अलावा जिल के पति काइल अपनी एक्जिमा बीमारी के इलाज के लिए भी ब्रेस्ट मिल्क का इस्तेमाल करते हैं.

वहीं, जिल ने अपने बेटे लेविन के कंजट्वाइटिस के इलाज के लिए भी ब्रेस्ट मिल्क का ही इस्तेमाल किया था. कैथरीन स्वानबोर्ग स्वीडन की Lund University में प्रोफ़सर हैं. वह पिछले कई सालों से इस पर रिसर्च कर रही हैं.

कैथरीन के मुताबिक ब्लैडर कैंसर से पीड़ित मरीजों पर ब्रेस्ट मिल्क का टेस्ट किया गया है. फ्रेड ही नहीं बल्कि कई दूसरे मरीजों पर भी किए गए टेस्ट के रिजल्ट पॉजीटिव पाए गए हैं.

Tags:    
Share it
Top