Home > मोदी-शरीफ के बीच इन मुद्दों पर हो सकती है बातचीत, शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन करेंगी अगुवाई

मोदी-शरीफ के बीच इन मुद्दों पर हो सकती है बातचीत, शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन करेंगी अगुवाई

 Kamlesh Kapar |  2017-03-27 05:58:18.0  |  नई दिल्ली

मोदी-शरीफ के बीच इन मुद्दों पर हो सकती है बातचीत, शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन करेंगी अगुवाई

नई दिल्लीः india और pakistan के बीच एक बार फिर से बातचीत शुरू हो सकती है। उम्मीद की जा रही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के बीच जून में शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन के दौरान मुलाकात हो सकती है। मोदी ने पिछले हफ्ते नवाज शरीफ को चिट्ठी लिखकर कहा था कि भारत भय और आतंकमुक्त माहौल में पाकिस्तान के साध दोस्ताना संबंध चाहता है। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि दोनों के बीच एक बार फिर रिश्ते सामान्य हो सकते हैं।दरअसल भारत अप्रैल में इंडियन कोस्ट गार्ड और पाकिस्तान मरीटाइम सिक्यॉरिटी एजेंसी के बीच बैठक की अगुवाई करने के लिए तैयार है। यह बैठक भारत में ही होगी। भारत-पाक की यह बैठक 15 अप्रैल के आसपास हो सकती है।

इससे पहले इन दोनों देशों के बीच बैठक पिछले साल जुलाई में हुई थी। बता दें कि पठानकोट हमले के बाद दोनों देशों में जांच के लिए जब सहमति बनी थी, तब इंडियन कोस्ट गार्ड ने पाकिस्तान का दौरा किया था। हालांकि इसके बाद लगातार बॉर्डर पर गोलीबारी और उरी हमले के बाद दोनों देशों में बातचीत काफी हद तक बंद हो गई थी। उरी हमले के बाद यह पहला मौका होगा, जब किसी बड़े स्तर पर दोनों पक्ष आमने-सामने होंगे। बता दे कि इंडियन कोस्ट गार्ड और पाकिस्तान मरीटाइम सिक्यॉरिटी एजेंसी के बीच 2005 में एक समझौता हुआ था, जिसके तहत दोनों देश एक दूसरे को अवैध जहाजों, सामुद्रिक प्रदूषण व प्राकृतिक आपदाओं से जुड़ी जानकारियां साझा करेंगे। 2016 में इस समझौते को 5 वर्षों के लिए बढ़ाया गया था।

Tags:    
Share it
Top