Home > पाक के अंतरिम प्रधानमंत्री बने शाहिद खाकान अब्बासी, 45 दिन तक संभालेंगे कुर्सी

पाक के अंतरिम प्रधानमंत्री बने शाहिद खाकान अब्बासी, 45 दिन तक संभालेंगे कुर्सी

प्रधानमंत्री चुनाव में शाहिद खाकन अब्बासी ने 221 वोटों से जीत हासिल की है। अब्बासी पाकिस्तान के 18वें प्रधानमंत्री बने हैं....

 Special Coverage News |  2017-08-01 13:08:11.0  |  New Delhi

पाक के अंतरिम प्रधानमंत्री बने शाहिद खाकान अब्बासी, 45 दिन तक संभालेंगे कुर्सी

इस्लामाबाद : पाकिस्तान में मंगलवार को नए प्रधानमंत्री का चुना हुआ। इस चुनाव में सत्तारुढ़ पीएमएल (एन) ने शाहिद खाकान अब्बासी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया था जिन्होंने जीत हासिल की है।

पाक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक प्रधानमंत्री चुनाव में शाहिद खाकन अब्बासी ने 221 वोटों से जीत हासिल की है। अब्बासी पाकिस्तान के 18वें प्रधानमंत्री बने हैं। भ्रष्टाचार के केस में दोषी पाए जाने पर नवाज शरीफ को हटाए जाने के बाद शाहिद अब्बासी को पाकिस्तान का नया प्रधानमंत्री चुना गया है।
आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने भ्रष्टाचार के मामले में शुक्रवार को 67 वर्षीय प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को अयोग्य करार दिया था और पनामा पेपर घोटाले में उनके एवं उनके बच्चों के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दायर करने का निर्देश दिया था। इसके कारण शरीफ को इस्तीफा देना पड़ा था।
राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने मंगलवार को संसद के निचले सदन नेशनल एसेंबली को बुलाया ताकि सदन का नया नेता चुना जा सके। शरीफ के पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल—एन) ने शरीफ के भाई शहबाज के योग्य होने तक अब्बासी को अंतरिम प्रधानमंत्री बनाया है।
कौन हैं अब्बासी?
शाहिद खाकान अब्बासी भी करप्शन के एक मामले में मुख्य आरोपी हैं। यह मामला 220 अरब के गैस (LNG) घोटाले का है। पाकिस्तान का नेशनल अकाउंटिबिलिटी ब्यूरो (एनएबी) इस मामले की जांच कर रहा है। एनबीए ने इस मामले में 29 जुलाई 2015 को केस दर्ज किया था। हालांकि जांच अभी शुरुआती दौर में है।
पाकिस्तान के पंजाब प्रोविंस के मशहूर टूरिस्ट स्पॉट मरी से आने वाले अब्बासी के पिता खाकान अब्बासी जियाउल हक के करीबी सहयोगियों में थे। 1988 में अपने पिता की रावलपिंडी में एक हादसे में मौत के बाद शाहिद खाकान अब्बासी राजनीति में दाखिल हुए। ये 6 बार नेशनल असेंबली के लिए चुनाव जीत चुके हैं। सिर्फ 2002 के चुनाव में इन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

Tags:    
Share it
Top