Home > केरल : हिंसा में मारे गए RSS कार्यकर्ता के परिवार से मिले अरुण जेटली

केरल : हिंसा में मारे गए RSS कार्यकर्ता के परिवार से मिले अरुण जेटली

बीजेपी ने इन हमलों के लिए सत्तारुढ़ पार्टी मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के कार्यक्ताओं को जिम्मेदार बताते हुए राज्य सरकार से कार्रवाई की मांग की है..

 Special Coverage News |  2017-08-06 08:45:33.0  |  New Delhi

केरल : हिंसा में मारे गए RSS कार्यकर्ता के परिवार से मिले अरुण जेटली

नई दिल्ली : वित्त मंत्री अरुण जेटली ने तिरुअनंतपुरम में राजनीतिक हिंसा में मारे गए राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (आरएसएस) के परिजनों से मुलाकात की। जेटली भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वार्ड पार्षदों से भी मुलाकात करेंगे, जिनके उपर पिछले हफ्ते हमला हुआ है। जेटली यहां आरएसएस कार्यकर्ता राजेश के घर गए, जिनका कथित तौर पर सीपीएम सदस्यों ने बीते महीने मर्डर कर दिया था।

बीजेपी ने इन हमलों के लिए सत्तारुढ़ पार्टी मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के कार्यक्ताओं को जिम्मेदार बताते हुए राज्य सरकार से कार्रवाई की मांग की है।
देश के सर्वाधिक विकसित राज्यों में शुमार केरल राजनीतिक हत्याओं का केंद्र बनता जा रहा है। दक्षिणपंथी संगठनों और वामदलों के बीच जारी वैचारिक संघर्ष में अक्सर हत्या की खबरें आती रहती हैं। उत्तर केरल के कन्नूर जिले से राजनीतिक हत्या के सर्वाधिक मामले सामने आये हैं, लेकिन राज्य के अन्य हिस्सों में भी ऐसी वारदातों की संख्या अब बढ़ रही है।
जेटली को केरल भेजने के फैसले को राजनीतिक जानकार मोदी सरकार द्वारा राज्य में पार्टी की संभावनाओं और असल राजनीतिक हालात को समझने की कोशिश के तौर पर देख रहे हैं। लंबे वक्त से यहां सत्ताधारी लेफ्ट और आरएसएस-बीजेपी कार्यकर्ताओं में झड़प चली आ रही है। केंद्र सरकार का यह फैसला संघ और पार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल काफी हद तक बढ़ाएगा। आरएसएस बीते काफी वक्त से राज्य में कानून-व्यवस्था का हवाला देते हुए राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग कर रहा है। इस मांग के नजरिए से भी जेटली का दौरा बेहद अहम है।
पिछले 13 महीनों में 14 कार्यकर्ताओं की हत्या का हवाला देते हुए आरएसएस ने राज्य में कानून व्यवस्था को दुरस्त करने के लिए केंद्र सरकार से दखल देने की मांग है। संघ ने हत्याओं के लिए सीपीएम आरोप लगाया है। आरएसएस के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने राज्य सरकार के रवैये पर सवाल उठाते हुए हत्याओं की जांच की मांग की।

Tags:    
Share it
Top