Home > JNU कैंपस में आर्मी टैंक खड़ा करने के लिए VC ने सरकार से की अपील, जानिए क्या है मामला

JNU कैंपस में आर्मी टैंक खड़ा करने के लिए VC ने सरकार से की अपील, जानिए क्या है मामला

हमेशा विवादों में रहने वाले दिल्ली के JNU कुलपति ने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और जनरल वीके सिंह से अपील की है कि कैंपस में सेना का एक टैंक खड़ा की जाए।

 Special Coverage News |  2017-07-24 06:28:54.0  |  नई दिल्ली

JNU कैंपस में आर्मी टैंक खड़ा करने के लिए VC ने सरकार से की अपील, जानिए क्या है मामला

नई दिल्ली: हमेशा विवादों में रहने वाले दिल्ली के JNU कुलपति एम जगदीश कुमार ने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और जनरल वीके सिंह से अपील की है कि कैंपस में सेना का एक टैंक खड़ा की जाए। ताकि इसे देखकर छात्रों को हमेशा इस बात की प्रेरणा मिलती रहे कि हमारे देश के लिए जवान कितना बलिदान करते हैं। सेना के टैंक के जरिए छात्रों के भीतर राष्टवाद की भावना को जगाने का विचार सबसे पहले 9 फरवरी 2016 को लाया गया था, जब संस्थान के भीतर कथित रूप से भारत विरोधी नारे लगे थे और कई छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हुआ था और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था।

बता दे की रविवार को कारगिल विजय दिवस मनाया गया और जेएनयू गेट से कन्वेंशन सेंटर तक शहीदों की शान में 2200 फीट के झंडे के साथ तिरंगा मार्च निकाला गया। इस दौरान छात्रों में देशभक्ति जगाने की कोशिशें शुरू हुई हैं। जिसमें क्रिकेटर गौतम गंभीर, रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्शी, सुप्रीम कोर्ट की वकील मोनिका अरोड़ा, वेटरंस इंडिया के प्रेजिडेंट बीके मिश्रा समेत कई शख्सियत पहुंचीं। आर्मी बैंड, तिरंगा मार्च और 23 शहीदों के परिवार के साथ जेएनयू में यह जश्न मनाया गया।
वही इस मौके पर धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, जेएनयू ने देश के लिए एक उदाहरण दिया है कि वह आर्मी के जवानों के लिए कितनी इज्जत रखता है। वीके सिंह ने करगिल की लड़ाई और जवानों के अनुभवों को स्टूडेंट्स के साथ बांटा। क्रिकेटर गौतम गंभीर बाइक रैली 'परिक्रमा पराक्रम' और तिरंगा मार्च का हिस्सा भी बने।

Tags:    
Share it
Top