Breaking News
Home > पीएम मोदी ने लाल किले की प्राचीर से देश को किया संबोधित, पढ़ें - भाषण की बड़ी बातें

पीएम मोदी ने लाल किले की प्राचीर से देश को किया संबोधित, पढ़ें - भाषण की बड़ी बातें

देश आज अपनी आजादी की 70वीं वर्षगांठ मना रहा है। पूरे देश में देशभक्ति का माहौल बना हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चौथी बार लाल किले से तिरंगा फहराया। पीएम ने लाल किले से देश को संबोधित किया..

 Arun Mishra |  2017-08-15 10:44:39.0

पीएम मोदी ने लाल किले की प्राचीर से देश को किया संबोधित, पढ़ें - भाषण की बड़ी बातेंPhoto Credit PIB

नई दिल्ली : देश आज अपनी आजादी की 70वीं वर्षगांठ मना रहा है। पूरे देश में देशभक्ति का माहौल बना हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चौथी बार लाल किले से तिरंगा फहराया। पीएम ने लाल किले से देश को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि हमें न्यू इंडिया का संकल्प लेकर देश को आगे लेकर जाना है। भारत में कोई छोटा या बड़ा नहीं है। सब एक बराबर हैं। एक साथ आकर ही हम बदलाव ला सकते हैं।


पढ़ें - पीएम मोदी के भाषण की बड़ी बातें -

Photo Credit : PIB


पीएम मोदी ने गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सिजन की कमी से हुई बच्चों की मौत पर शोक प्रकट किया। इसके बाद पीएम ने देश में भीड़ द्वारा हमले के मामलों के बढ़ने की भी निंदा की। उन्होंने कहा कि अपनी आस्था के नाम पर हिंसा करने जैसी घटनाएं अस्वीकार्य हैं। गोरखपुर में बच्चों की मौत पर उन्होंने कहा कि सरकार इस मामले को लेकर संवेदनशील है। इस दुख की घड़ी में पूरा देश उनके साथ है।


पीएम ने कहा कि 21वीं शताब्दी में जन्मे लोगों के लिए 2018 खास है। उन्होंने कहा कि वह सब इस साल 18 वर्ष के हो जाएंगे। वे न्यू इंडिया में अपना योगदान दे सकते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि देश को गरीबी से मुक्त कराने के लिए हमारे हर कर्तव्य में राष्ट्रभाव होना चाहिए। इससे परिणाम की ताकत अनेक गुणा भर जाती है।

पीएम ने कहा कि जम्मू कश्मीर की सरकार के साथ-साथ देश उनके साथ है। हम कश्मीर को फिर स्वर्ग बनाएंगे। न गाली से समस्या सुलझेगी, न गोली से समस्या सुलझेगी, सिर्फ उन्हें गले लगाकर समस्या का हल होगा। साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद से कोई समझौता नहीं होगा। सभी को मुख्यधारा से जोड़ा जाएगा। सुरक्षाबलों के प्रयासों से लोग अब मुख्यधारा से जुड़ रहे हैं। नक्सलवाद कम हो रहा है।

तीन तलाक के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि पीड़ित महिलाओं ने जोरदार आंदोलन किया और देश में माहौल बनाया। उन्होंने कहा इन महिलाओं की इस लड़ाई में हिंदुस्तान उनकी मदद करेगा। उन्होंने कहा कि आस्था के नाम पर कुछ लोग गलत काम करते हैं। सांप्रदायिकता और जातिवाद का जहर देश को नुकसान पहुंचाता है। उन्होंने कहा कि आस्था के नाम पर हिंसा को जगह नहीं दी जा सकती।

पीएम मोदी ने कहा कि पहले कई मुद्दों पर केंद्र और राज्यों में हमेशा द्वंद्व चलता था। इसमें यूरिया भी एक मुद्दा था, वह अब खत्म हो चुका है। उन्होंने कहा कि अब कम्पीटीटिव कॉपरेटिव फेडरलिज्म का जमाना है। बिजली के कारोबार में भी केंद्र और राज्य मिलकर काम कर रहे हैं।

पीएम ने कहा कि लोगों की भागीदारी की परंपरा से देश आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा, लाल बहादुर शास्त्री का जिक्र कर जय जवान जय किसान की बात कही। उन्होंने कहा कि दाल का रिकॉर्ड उत्पादन हुआ है। देश में दाल खरीदने की परंपरा नहीं रही। पीएम मोदी ने कहा कि देश के किसानों को पानी की समस्या है हम इस दिशा में काम कर रहे हैं और जल्द ही उनकी यह समस्या खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि बीज से बाजार तक किसानों की समस्या को खत्म किया जाएगा।

मोदी ने कहा, 'प्राकृतिक आपदाएं एक बड़ी चुनौती बन गई हैं। अच्छी वर्षा से देश की संपत्ति बढ़ती है। किन्तु मौसम में बदलाव के कारण समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं।' उन्होंने कहा, 'हाल के समय में देश के कई हिस्सों में प्राकृतिक आपदा का सामना करना पड़ा।

पीएम ने कहा, करीब नौ करोड़ किसानों को मृदा कार्ड और 2.5 करोड़ गरीब महिलाओं को एलपीजी गैस कनेक्शन दिये गये। पिछले तीन साल में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत करोड़ों नौजवानों ने अपने पैरों पर खड़े होकर रोजगार के अवसर पैदा किये। किसान को बीज से लेकर बाजार तक की सुविधा उपलब्ध कराने के लिये एफडीआई नीति को उदार बनाने सहित अनेक कदम उठाये गये। गरीबों को नि:शुल्क गैस कनेक्शन देने की उज्ज्वला योजना, स्वच्छता अभियान समेत सभी क्षेत्रों में देशवासियों का सरकारी योजनाओं को समर्थन मिला।

उन्होंने कहा कि हम नौ महीने में मंगलयान से मंगल पर पहुंच सकते हैं लेकिन 42 साल से एक छोटी सी रेल परियोजना अटकी पड़ी थी, हमारी सरकार ने परियोजनाओं के तेजी से क्रियान्वयन पर ध्यान दिया। ट्रेन भी ट्रैक बदलती है तो ट्रेन की स्पीड कम हो जाती है। हम देश को नए ट्रैक पर ले जाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन हमने स्पीड कम नहीं होने दी।

मोदी ने कहा कि देश में प्राकृतिक आपदाओं के बावजूद रिकार्ड फसल उत्पादन, दाल का उत्पादन नई ऊंचाई पर, सरकार ने 16 लाख टन दाल की खरीदारी की। पीएम ने कहा कि सस्ती दवाई गरीब के लिए बहुत बड़ी राहत है। हम गरीब और मध्यमवर्ग के लिए एक से बढ़कर एक योजनाएं शुरू कर रहे हैं। हमने जिला स्तर तक डायलिसिस को पहुंचाया है।

पीएम ने कहा यह देश बुद्ध का है, गांधी का है। यहां आस्था के नाम पर हिंसा के रास्ते को बढ़ावा नहीं दिया जा सकता। उस वक्त नारा था भारत छोड़ो और आज हमारा नारा है, 'भारत जोड़ो'।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, 'हमारी सेनाएं समेत सभी सुरक्षा एजेंसियों ने हर मौके पर अपना कर्तब दिखाया है। बलिदान करने में ये कभी पीछे नहीं रहे हैं। आतंकवाद हो या घुसपैठ हो हर जगह उन्होंने अपना काम किया। जब सर्जिकल स्ट्राइक हुई तब दुनिया ने हमारी ताकत को पहचाना।

पीएम मोदी बोले कि आतंरिक सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है, समंदर हो या सीमा हो, साइबर हो या स्पेस हो हमें हर प्रकार की सुरक्षा करनी है। भारत इसे करने में सक्षम है, देश के खिलाफ कुछ भी होने के हौसले परस्त करने में हम सक्षम हैं। गरीबों को लूट करके तिजोरी भरने वाले लोग आज भी चैन की नींद नहीं सो पा रहे हैं, ईमानदारों को अब विश्वास बढ़ रहा है। आज ईमानदारी का महोत्सव मनाया जा रहा है।

Tags:    

नवीनतम

Share it
Top