Home > आज PM मोदी सहित सांसद सेंट्रल हॉल में देंगे प्रणब मुखर्जी को विदाई, कल PM ने दिया था भोज

आज PM मोदी सहित सांसद सेंट्रल हॉल में देंगे प्रणब मुखर्जी को विदाई, कल PM ने दिया था भोज

आज मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को सांसदों की ओर से विदाई दी जाएगी। संसद के सेंट्रल हॉल में विदाई कार्यक्रम होगा।

 Special Coverage News |  2017-07-23 05:38:51.0  |  नई दिल्ली

आज PM मोदी सहित सांसद सेंट्रल हॉल में देंगे प्रणब मुखर्जी को विदाई, कल PM ने दिया था भोज

नई दिल्ली: आज मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को सांसदों की ओर से विदाई दी जाएगी। संसद के सेंट्रल हॉल में विदाई कार्यक्रम होगा। प्रणब मुखर्जी के कार्यकाल खत्म होने में अब सिर्फ दो दिन का वक्त बचा है। नए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 25 जुलाई को शपथ लेंगे। राष्ट्रपति के विदाई कार्यक्रम में लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन विदाई भाषण देंगी। राष्ट्रपति को मेमेंटो के साथ सभी सांसदों के हस्ताक्षर वाली किताब दी जाएगी।

बता दे कि विदाई कार्यक्रम के बाद प्रणब मुखर्जी के सम्मान में एक चाय पार्टी होगी। संसद के सेंट्रल हॉल में औपचारिक विदाई समारोह होगा, जिसमें प्रधानमंत्री मोदी और सरकार के मंत्री और दोनों सदनों के सांसद मौजूद रहेंगे। अपने 5 साल के कार्यकाल में प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति पद की गरिमा को नई ऊंचाईयों पर ले गए। एक शिक्षक से नेता और उसके बाद राष्ट्रपति तक का सफर तय करने वाले प्रणब मुखर्जी अपने शालीन व्यक्तिव और विद्वता के लिए जाने जाते हैं।
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निवर्तमान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के सम्मान में शनिवार रात विदाई समारोह का आयोजन किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने प्रणब मुखर्जी को स्मारिका भेंट की। हैदराबाद हाउस में आयोजित इस समारोह में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी भी मौजूद थे। इनके अलावा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, वरिष्ठ मंत्री और विपक्ष के कई नेता भी इसमें शामिल हुए। इस अवसर पर मुखर्जी ने आगंतुक पुस्तिका पर हस्ताक्षर किए।
11 दिसंबर 1935 में पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में जन्मे प्रणब का कार्यकाल कभी विवादों में नहीं रहा। उन्होंने अपने कार्यकाल के तीन साल मोदी सरकार के साथ गुजारे लेकिन कभी राष्ट्रपति और सरकार के बीच टकराव की स्थिति नहीं आई। खुद पीएम मोदी ने कई मौकों पर मुखर्जी की तारीफ की। यहां तक की एक मौके पर मोदी खुद मुखर्जी को पिता समान कहते-कहते भावुक हो गए थे।

Tags:    
Share it
Top