Top
Begin typing your search...

अगर घर में है भगवान विष्णु या कृष्ण की मूर्ति तो पूजा करने में न करें ये गलती

अगर घर में है भगवान विष्णु या कृष्ण की मूर्ति तो पूजा करने में न करें ये गलती
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
नई दिल्ली : हमलोग जब भी भगवान की मूर्तियां घर में लाते है तो सजावट या इच्छानुसार कहीं भी मूर्ति को स्थापित कर देते है। आपके घर के मंद‌िर में भी भगवान व‌िष्‍णु या श्री कृष्‍ण की मूर्त‌ि तो जरुर होगी। लेकिन क्या आपको मालुम है ज‌िन घरों में भगवान व‌िष्‍णु या श्री कृष्ण की मूर्त‌ियां हो उन्हें भगवान की पूजा में बहुत ही सावधानी रखनी चाह‌िए।

शास्‍त्रों के अनुसार भगवान विष्णु और श्री कृष्ण की बालरूपी बैठी हुई प्रतिमा घर में रखना अच्छा माना जाता है। लेकिन भगवान की पूजा में कुछ चीजों को लेकर गलत‌ियां नहीं करनी चाह‌िए।

भगवान व‌िष्‍णु और श्री कृष्ण को ब‌िना स्नान और भोग लगाएं खुद भोजन नहीं करना चाह‌िए। ऐसा न न करने से घर में बरकत नहीं होती है और पर‌िवार में तरह-तरह की परेशान‌ियां आती रहती हैं।

♦ भगवान की पूजा स‌िले हुए वस्त्र और जूठ वस्‍त्र धारण करके नहीं करनी चाह‌िए। और साफ़ सुथरे कपडे ही पहनना चाहिए।

♦ पूजा करने के समय ये याद रखें मुख शुद्ध रहे इसके ल‌िए पूजा शुरू करने से पहले ही आचमन कर लें और पूजा के समय मुंह में कुछ भी न रखें।

♦ भगवान व‌िष्‍णु और श्री कृष्‍ण की पूजा करते वक़्त घी के दीप का भी बड़ा महत्व है। इसल‌िए पूजा करने के समय एक दीपक जरुर जलाएं।

♦ भगवान की पूजा करते वक़्त पुराने फूल भगवान की मूर्त‌ि पर नहीं चढ़ाना चाह‌िए। साथ ही ये भी याद रखें बासी फूल भी भगवान के पास न हो। यहां तक की फूल की माला भी हर द‌िन बदलना चाह‌िए।

♦ भगवान की पूजा करते वक़्त न‌ियम‌ित रूप से एक तुलसी का पत्ता भगवान के स‌िर पर और प्रसाद पर डालकर अर्प‌ित करें। ब‌िना तुलसी के पूजा अधूरी मानी जाती है। भगवान उनकी यह पूजा स्वीकार नहीं करते हैं।
Next Story
Share it