Top
Begin typing your search...

राहुल गांधी के सहारनपुर दौरे को प्रशासन ने नहीं दी अनुमति

Administration not given permission to Rahul Gandhi visit Saharanpur

राहुल गांधी के सहारनपुर दौरे को प्रशासन ने नहीं दी अनुमति
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
नई दिल्ली : कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के हिंसा प्रभावित सहारनपुर दौरे को जिला प्रशासन ने अनुमति देने से इनकार कर दिया है। इससे पहले आज ही ये खबर आई थी कि राहुल गांधी शनिवार को सहारनपुर का दौरा करेंगे।

एडीजी लॉ एंड आर्डर आदित्य मिश्रा ने कहा राहुल गांधी को सहारनपुर की यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। मिश्रा ने ये बयान देकर ऐसी किसी भी संभावना पर पूरी तरह से लगाम लगा दी है। अब देखना होगा कि अनुमति न मिलने के बाद भी राहुल सहारनपुर जाते हैं या नहीं।

इससे पहले BSP सुप्रीमो मायावती ने सहारनपुर का दौरा किया था जिससे यहां के हालात और बिगड़ गए थे। मायावती की रैली से लौट रहे लोगों पर कुछ नकाबपोशों ने बंदूक, तलवारों, भालों से हमला किया था जिसमें एक की जान चली गई थी और 6 लोग घायल हो गए थे। इसके बाद ही प्रशासन ने यहां किसी भी नेता के दौरे पर रोक लगा दी थी।

इस बीच राहुल गांधी के सहारनपुर दौरे पर BJP प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा ने कहा, "राहुल गांधी की एक स्टाइल बन गई है। जहां दिक्कत होती है वो वहां जाकर मीडिया के सामने अपनी पार्टी को चमकाना चाहते हैं। पहले भी ऐसी कोशिश की लेकिन जनता ने जवाब दिया। जब प्रशासन वहां स्थिति सामान्य बनाने की कोशिश कर रहा है तो राहुल गांधी पॉलिटिकल टूरिज्म करना चाहते हैं।"

5 मई हिंसा की शुरुआत जिले के शब्बीरपुर गांव में महाराणा प्रताप की मूर्ति पर माल्यार्पण करने जा रहे राजपूतों और दलितों के बीच झड़प से हुई। इस हिंसा में राजपूत पक्ष के एक युवक सुमित की मौत हो गई। इसके बाद ठाकुरों ने बदला लेने के लिए 60 दलितों के घर फूक दिए थे। इस मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर 17 लोगों को गिरफ्तार किया है।

वही 9 मई को भीम आर्मी के नेतृत्व में पीड़ित दलितों ने मुआवजे की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन के दौरान हिंसा भड़की. उपद्रवियों ने कई जगह तोड़फोड़, आगजनी की। दो पुलिस चौकी फूक दी गई, कई वहां फूंके। मामले में 24 मुक़दमे दर्ज कर 30 लोग गिरफ्तार किया।
Kamlesh Kapar
Next Story
Share it