Home > Archived > पेट्रोलियम इंजीनियरिंग न कर पाने वालों के लिए कोर्स होगा लाभप्रद : पाणिग्रही

पेट्रोलियम इंजीनियरिंग न कर पाने वालों के लिए कोर्स होगा लाभप्रद : पाणिग्रही

आइआइटी आइएसएम में ओएनजीसी अधिकारियों का ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू

 Special Coverage News |  3 July 2017 10:18 AM GMT  |  धनबाद

पेट्रोलियम इंजीनियरिंग न कर पाने वालों के लिए कोर्स होगा लाभप्रद : पाणिग्रही

मनोज मिश्र

धनबाद: कंपीटेंसी डेवलपमेंट इंजीनियरिंग ऑफ रिजर्वायर्स इंजीनियर्स विषय पर ओएनजीसी अधिकारियों के लिए 12 सप्ताह का ट्रेनिंग प्रोग्राम तीन जुलाई से आइआइटी आइएसएम में शुरू हुआ. उद्घाटन मुख्य अतिथि संस्थान के निदेशक प्रो. डीसी पाणिग्रही ने किया. उन्होंने कहा कि आइआइटी आइएसएम ने ओएनजीसी के अधिकारियों में थ्योरी व प्रैक्टिकल क्लास के माध्यम से कंपेटेंसी बढ़ाने के लिए ही विशेष रूप से यह कोर्स तैयार किया है. यहां से ट्रेनिंग लेकर जाने वाले अधिकारियों को इस प्रशिक्षण से उत्पादन बढ़ाने में मदद मिलेगी. ओएनजीसी के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर सिद्धार्थ सूरी ने बताया कि इस

संस्थान में शोध के लिए काफी संसाधन है जो कि प्रशिक्षणार्थियों के लिए वरदान बन सकती है. इस प्रकार का कोर्स रिजर्वायर इंजीनियर्स का कॅरियर ग्रोथ बढ़ाने में काफी मदद करेगा. विभागाध्यक्ष प्रो. वाइपी शर्मा ने बताया कि आये प्रशिक्षणार्थियों के लिए कोर्स के अलावा और कई फैसिलिटी संस्थान में उपलब्ध है. मसलन स्पोर्ट एक्टिविटी के लिए कई आउट डोर व इनडोर गेम, योगा व स्विमिंग पूल आदि सहित आर्ट एक्टिविटी के भी कई संसाधन यहां उपलब्ध है.

समारोह को एसके सिन्हा ( प्रोफेसर ऑफ कंटिन्यूइंग एडुकेशन)ने भी संबोधित किया. धन्यवाद ज्ञापन प्रो. राजीव उपाध्याय ने की. कोर्स का संचालन तीन जुलाई से 22 सितंबर तक चलेगा. इस ट्रेनिंग प्रोग्राम में ओएनजीसी के 20 अधिकारी भाग ले रहे हैं. तीन किस्तों में चलने वाले इस ट्रेनिंग प्रोग्राम में इसके बाद फिर 20 अधिकारी और अंत में 17 अधिकारी यानी कुल 57 अधिकारी ट्रेनिंग लेेंगे.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top