Home > संदिग्ध स्थिति में गर्दन कटी हालत में मिला छात्र, हालत गंभीर

संदिग्ध स्थिति में गर्दन कटी हालत में मिला छात्र, हालत गंभीर

नगर थाना इलाके के मकतपुर में 12वीं के एक छात्र गुरुवार को अपने कमरे में संदिग्ध स्थिति में घायल मिला।

 Special Coverage News |  2017-07-14 07:03:03.0  |  गिरिडीह

संदिग्ध स्थिति में गर्दन कटी हालत में मिला छात्र, हालत गंभीर

गिरिडीह: नगर थाना इलाके के मकतपुर में 12वीं के एक छात्र गुरुवार को अपने कमरे में संदिग्ध स्थिति में घायल मिला। घायल छात्र मुफस्सिल थाना इलाके के विश्वासडीह निवासी विशेश्वर पाठक का पुत्र आकाश भारद्वाज(17) है। वह सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में कक्षा 12वीं (विज्ञान) का छात्र है और मकतपुर में कुमार दीपक झा के मकान में किराये पर एक सहपाठी के साथ रहता है।

हालांकि पुलिस अभी इस मामले की जांच कर रही है। मकान मालिक श्री झा ने बताया कि गुरुवार की शाम करीब चार बजे आकाश के कमरे के बगल स्थित फ्लैट में रहनेवाले किरायेदार ने सूचना दी की आकाश अपने बेड पर छटपटा रहा है। सूचना पर वह पहुंचे तो कमरे से सल्फास की गंध आ रही थी, वहीं आकाश की गर्दन भी हल्की कटी थी। उसने इसकी सूचना आकाश के घरवालों को दी और उसे इलाज के लिए नवजीवन नर्सिंग होम ले गये। जहा चिकित्सक ने आकाश को धनबाद रेफर कर दिया। परिजनों ने उसे धनबाद असर्फी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।
घटना की सूचना पर आकाश के रिश्तेदार दिलीप उपाध्याय, दीपक उपाध्याय, सरस्वती शिशु विद्या मंदिर के प्राचार्य मदन मोहन मिश्र, माले नेता राजेश यादव, झाविमो नेता नवीन सिन्हा भी पहुंचे। आकाश के साथ रहनेवाले उसके सहपाठी सौरभ ने बताया कि गुरुवार की सुबह उसने आकाश को स्कूल जाने को कहा, लेकिन वह स्कूल गया नहीं. जब वह स्कूल से शाम को वापस आया तो उसे घटना की जानकारी मिली।
वही घटना की सूचना मिलने पर डीएसपी मुख्यालय वन प्रमोद कुमार मिश्रा, पुलिस निरीक्षक रामनारायण चौधरी, पुअनि अजरकांत झा पहुंचे। आकाश के सहपाठी व पड़ोसी से पूछताछ की। पुलिस अधिकारियों ने आकाश के मोबाइल को जब्त किया और उसके कमरे की तलाशी ली। कमरे में एक फंदा भी मिला। ऐसे में पुलिस इसे आत्महत्या का प्रयास मान रही है। आकाश के रिश्तेदार का कहना है कि आकाश का किसी से कोई विवाद नहीं है। घर में भी सब कुछ ठीक है। ऐसे में वह आत्महत्या का प्रयास क्यों करेगा। कहा कि आकाश ही इस मामले पर कुछ बता पायेगा। मामले की जांच होनी चाहिए।

Tags:    
Share it
Top