Top
Begin typing your search...

अलीगढ़ में हुई ठाकुर बनाम दलित लड़ाई, पत्थरवाजी में 10 दलित घायल

अलीगढ़ में हुई ठाकुर बनाम दलित लड़ाई, पत्थरवाजी में 10 दलित घायल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सहारनपुर के बाद अब अलीगढ़ में हुई ठाकुर बनाम दलित लड़ाई

अलीगढ़: सूबे में चल रही ठाकुर बनाम दलित लड़ाई ने उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों में भी पाँव फैलाना शुरू कर दिया है. इसी कड़ी में अब अलीगढ़ जिले के गभाना थाना क्षेत्र के केशोपुर जाफरी गाँव में दलितों और ठाकुरों में तीखी झडप हो गई. दलितों का आरोप है कि गाँव के ठाकुर समुदाय के सुरेश सिंह ने सरकारी जमीन पर कब्जा करके नाली निर्माण किया. मामला विरोध करते करते बलवे में तब्दील हो गया.


घटना के अनुसार सुरेश सिंह अपनी नाली का निर्माण करा रहे थे. जिसका विरोध दलित समुदाय के चन्द्रपाल यह कहकर करने लगे कि यह जमीन उनकी है. जिसके बाद ठाकुरों और दलितों में जातीय सूचक शब्दों का इस्तेमाल होते होते मामला मारपीट में तब्दील हो गया. और फिर पत्थर वाजी और फायरिंग होते ही भगदड़ मच गई. जिसमें दोनों पक्षों के लोग घायल हो गये. फायरिंग की जनकारी जैसे ही पुलिस को मिली तो ततकाल पुलिस पहुंची और विवाद को जैसे तैसे शांत कराया.


घटना में 10 दलित घायल हो गये. जिनमे मुख्य रूप से चन्द्रपाल , सत्यवीर , मुकेश , रुपेश , रेशमा, राजेंदरी गम्भीर घायल हो गये. जिनको उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया. दलितों का आरोप है कि हमने नाली निर्माण की शिकायत पुलिस से की लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की. जिससे यह विवाद इतना बढ़ गया. पुलिस अगर मामले में कार्यवाही करती तो आज इतना बड़ा बबाल नहीं होता.


सीओ गभाना अनिल कुमार ने मिडिया को बताया कि दोनों पक्षों ने अपनी अपनी FIR दर्ज कराइ है. दलित समुदाय ने 10 ठाकुरों को नामजद किया है तो ठाकुर समुदाय ने 4 दलितों के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज कराया है. फिलहाल गाँव तनाव पूर्ण शान्ति है. पुलिस ने इस मामले में तीन लोंगों को गिरफ्तार भी कर लिया है.

Next Story
Share it