Home > जेल में कैदी की मौत, परिजनों ने मचाया हंगामा

जेल में कैदी की मौत, परिजनों ने मचाया हंगामा

शव को ले जा रहे वाहन पर ईट-पत्थर भी चलाए

 शिव कुमार मिश्र |  2017-05-30 16:43:21.0  |  कौशम्बी

जेल में कैदी की मौत, परिजनों ने मचाया हंगामा

उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिला जेल मे कैदियों के मरने का सिलसिला नहीं नजर आ रहा है| एक और क़ैदी की आज संदिग्ध परिस्थितियों मे मौत हो गई. मृतक क़ैदी हत्या के आरोप मे जेल मे बंद था. क़ैदी की मौत की सूचना परिजनों को हुई तो वह जिला अस्पताल जा पहुँचे. जहाँ उन्होने जमकर हंगामा काटा.


मृतक क़ैदी के परिजन व उनके साथ जूटे ग्रामीणों ने जिला अस्पताल के सामने मंझनपुर-सरायअकिल मार्ग पर जाम लगा दिया. पुलिस प्रशासन के लोगों ने नाराज परिजनों को साझाने का प्रयास किया तो वह उनसे ही उलझ पड़े. नाराज परिजनों ने पोस्टमार्टम के लिए शव को ले जा रहे वाहन पर ईट-पत्थर भी चलाए. मामले की जानकारी होने पर जिलाधिकारी भी मौके पर पहुँचे और नाराज लोगों को समझाबुझा सड़क जाम समाप्त करवाया.

Displaying 20170530_190916.jpg

मंझपुर थाना के सैदनपुर गाँव निवासी कारण सिंह पुत्र लल्लू व उसका भाई जगदीश वर्ष 2011 मे संतोष नाम के युवक की हत्या के मामले मे जिला जेल के बैरक नंबर तीन मे बंद था. बीती रात अचानक उसकी तबीयत बिगड़ी तो साथी कैदियों ने जेल प्रशासन को सूचित किया. इस पर उसे जेल अस्पताल मे भर्ती कराया गया. जेल अस्पताल के डाक्टरों ने सुबह उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया. जिला अस्पताल के डाक्टरों ने उसे देखते ही मृत घोषित कर दिया.


क़ैदी कारण सिंह की मौत की सूचना उसके परिजनों को दी गई. परिजन जिल अस्पताल पहुँचे तो कारण के शव को देख आग बबूला हो गए. परिजनों का आरोप है कि कारण को जेल मे प्रताड़ित किया गया, इसीसे उसकी मौत हुई है. इसके बाद परिजन व तमाम ग्रामीणों ने जिला अस्पताल के सामने मंझनपुर- सरायअकिल मार्ग पर जाम लगा दिया. क़ैदी की मौत के बाद हंगामा व सड़क जाम की सूचना पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुँच गई. एसडीएम व एडीएम भी मौके पर पहुँच परिजनों को समझाने मे जुट गए.


इस बीच शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया जाने लगा. जिस पर परिजन आपे से बाहर हो गए और शव वाहन पर ईट-पत्थर चलाने लगे. पुलिस ने जैसे तैसे सभी को नियंत्रित किया. हंगामे की सूचना पर जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा भी मौके पर पहुँचे. डीएम ने परिजनों से बात कर उन्हे जाँच का आश्वासन व दोषी पाये जाने पर संबंधित के खिलाफ कार्यवाही का भरोसा दिया तब जाकर वह शांत हुये. इसके बाद रास्ता खुलवाकर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा.

रिपोर्ट नितिन अग्रहरी

Tags:    
Share it
Top