Top
Begin typing your search...

यादव जाति के अधिकारीयों की पोस्टिंग का आरोप लगता था, सीएम बताएं किस जाति के अधिकारी पोस्ट कर रहे है - अखिलेश यादव

यूपी काम पर नहीं बहकाने में आकर वोट दिया

यादव जाति के अधिकारीयों की पोस्टिंग का आरोप लगता था, सीएम बताएं किस जाति के अधिकारी पोस्ट कर रहे है - अखिलेश यादव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
लखनऊ: पूर्व मुख्यमंत्री व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी में जब सपा की सरकार थी तो भाजपा के लोग यह आरोप लगाते थे कि सिर्फ यादव जाति के अधिकारियों को ही पोस्टिंग दी जा रही है। लेकिन अब मैं सूबे के मुख्यमंत्री से सवाल पूछता हूं कि वह किस जाति के अफसरों को तैनात कर रहे हैं। वहीं, उन्होंने यह भी कहा कि यूपी विधानसभा चुनाव भाजपा ने नहीं संघ ने जीता है।

एक निजी न्यूज चैनल के कार्यक्रम में मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश जनता के सवालों का जवाब दे रहे थे।

अखिलेश ने कहा कि योगी सरकार में भी जाति के आधार पर हो रही अधिकारियों के तैनाती की समीक्षा होनी चाहिए। सपा सरकार की योजनाओं की जांच कराने के मुद्दे पर भी अखिलेश ने सरकार को कठघरे में खड़ा किया। कहा, जिन अधिकारियों की जांच हो रही है, वह अधिकारी भी तो योगी के साथ है और वहीं काम कर रहे हैं। ऐसे में जांच किसकी होगी। गोमती रिवर फ्रंट और लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे समेत सपा सरकार के कार्यकाल की अन्य योजनाओं की जांच कराए जाने के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि ये अच्छी बात है कि योगी जांच करा रहे हैं। सब साफ हो जाएगा और जनता को भी सच्चाई पता चल जाएगी।

जिनकी जांच हो रही वो ही योगी सरकार में कर रहे हैं काम: उन्होंने कहा कि जिन अधिकारियों की जांच कराई जा रही है वह अधिकारी आज भी योगी सरकार में महत्वपूर्ण पदों पर काम कर रहे हैं। उन्होंने प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि सहारनपुर व मथुरा की घटना और गोरखपुर में भाजपा विधायक द्वारा आईपीएस अधिकारी के साथ किया गया दुर्व्यवहार समझने के लिए काफी है कि सूबे की कानून-व्यवस्था की स्थिति कितनी बदहाल हो चुकी है।

शिव कुमार मिश्र
Next Story
Share it