Top
Begin typing your search...

मायावती को जनता से माफी मांगकर राजनीति छोड़ने की घोषणा करनी चाहिए - डॉ चन्द्रमोहन

मायावती को जनता से माफी मांगकर राजनीति छोड़ने की घोषणा करनी चाहिए - डॉ चन्द्रमोहन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

उनका खुदा और उनकी खुदाई सिर्फ सिक्कों की खनक है

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी ने ताजा घटनाक्रम में कहा कि बसपा सुप्रीमों को नसीमुद्दीन सिद्दीकी के आरोपों के बाद राजनीति छोड़ देनी चाहिए। प्रदेश प्रवक्ता डॉ चन्द्रमोहन ने कहा कि यह सर्वविदित है कि बसपा सुप्रीमों स्वयं के लिए राजनीति करती है, उनका खुदा और उनकी खुदाई सिर्फ सिक्कों की खनक है।


चन्द्रमोहन ने कहा कि बसपा सुप्रीमों पर उनके सिपहसालार रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी के ताजातरीन आरोपों के पूर्व भी सत्ता के गलियारे मायावती जी की धन पिपासु प्रवृत्ति से वाकिफ है। दलित वोटो का सौदा कर धन उगाही करना ही मायावती जी का राजनीतिक लक्ष्य है। जनता 2012, 2014 और 2017 में मायावती जी के वोटो की सौदागरी की समाप्ति का संदेश दे चुकी है।


डॉ चन्द्रमोहन ने कहा कि आज के एपीसोड से सिद्ध हो चुका है कि बसपा राजनीतिक दल नहीं है बल्कि धन उगाही का गिरोह है। बहिन जी परिवारवाद और धन उगाही में रत दौलत की बेटी है जो दलित की बेटी का अभिनय करके दलितों के वोटो का सौदा करती रही। अपनी हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ने वाली मायावती की हार का कारण जन उपेक्षा और टिकट बेचना है। जनता ने बसपा को समाप्त कर बहिन जी की धन उगाही पर विराम लगा दिया है। यह घटनाक्रम सत्ता की दूरी से घटते आर्थिक स्रोतों की परिणिति है।

Next Story
Share it