Home > यूपी : रिश्वत लेते चौकी इंचार्ज रंगे हाथ गिरफ्तार

यूपी : रिश्वत लेते चौकी इंचार्ज रंगे हाथ गिरफ्तार

चौकी इंचार्ज दो आरोपियों का नाम मुकदमे से हटाने को लेकर पचास हजार रुपये की मांग कर रहा था और..?

 Arun Mishra |  2017-06-10 08:00:29.0  |  New Delhi

यूपी : रिश्वत लेते चौकी इंचार्ज रंगे हाथ गिरफ्तार

मुरादाबाद : पुलिस के आलाधिकारी भले ही अनुशासन और ईमानदारी का पाठ माहतमों को पढ़ाते नजर आते हो लेकिन जमीनी हकीकत अधिकारियों के दावों की पोल खोल जाती है। ताजा मामला मुरादाबाद जनपद के कटघर थाना क्षेत्र का है जहां एंटी करप्शन टीम ने रिश्वत लेते चौकी इंचार्ज को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। छेड़छाड़ के एक मामले में चौकी इंचार्ज अजय कुमार दो आरोपियों का नाम मुकदमे से हटाने को लेकर पचास हजार रुपये की मांग कर रहा था और पैसे ना देने पर दोनों आरोपियों को जेल भेजने की धमकी दे रहा था।

दरोगा अजय कुमार की धमकी से सदमे में आये आरोपी पक्ष ने एंटी करप्शन को मामले की जानकारी देकर आज एंटी करप्शन टीम के साथ जाकर चौकी इंचार्ज को दस हजार की रिश्वत देते हुए ट्रेस करवा लिया और टीम ने अजय कुमार को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।

मुरादाबाद जनपद के सिविल लाइन थाने में पुलिस अधिकारियों का लगातार आना- जाना और एक कमरे में रिश्वत के आरोपी दरोगा से पूछताछ के बहाने आवभगत में लगे पुलिस कर्मी जी हां यही तस्वीर आज उस वक्त दिखी जब रिश्वत लेने के आरोपी चौकी इंचार्ज को सिविल लाइन थाने में पूछताछ के लिए लाया गया। दरअसल नोटबन्दी के वक्त अनिल कुमार नाम के एक शख्स ने अपने पड़ोसी एलआईसी एजेन्ट को ढेड़ लाख रुपये नोट बदलने को दिए थे। सरकार के कड़े प्रतिबन्धों के चलते अनिल के नोट नही बदले गए और एलआईसी एजेंट ने अनिल को पचास हजार रुपये का चैक वापस दे दिया साथ ही बाकी पैसों के लिए पांच महीने का समय दिया गया। इसी दौरान अनिल ने चैक बैंक में जमा कराया तो वह बाउंस हो गया जिसके बाद अनिल ने पुलिस में शिकायत की धमकी दी।

पुलिस ने अनिल से बाउंस चैक लेकर जांच की बात कही लेकिन उससे पहले ही एलआईसी एजेन्ट से मिलकर पुलिस ने छेड़छाड़ का मुकदमा अनिल ओर उसके परिजनों पर दर्ज कर अनिल को जेल भेज दिया। जेल से जमानत मिलने के बाद अनिल ने मुकदमे से अपनी पत्नी और साले के लड़के को फर्जी फसाने की बात कही तो चौकी इंचार्ज ने दोनों के नाम हटाने के एवज में पचास हजार रुपयों की मांग की। अनिल ने पचास हजार रुपये देने में असमर्थता जताई तो पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजने की तैयारी कर ली। खुद को फर्जी मामले में फसाये जाने और रिश्वत लेने की मांग करने वाले चौकी इंचार्ज की शिकायत एंटी करप्शन टीम को दे दी।

अनिल कुमार की शिकायत पर एंटी करप्शन टीम ने अपना जाल बिछाना शुरू किया और आज अनिल को दस हजार रुपये लेकर चौकी पर भेजा। दोपहर जब चौकी इंचार्ज गुलाबबाड़ी चौकी पर पहुंचा तो अनिल कुमार को बुला लिया। अनिल कुमार ने दो दो हजार के पांच नोट चौकी इंचार्ज को दिए और बाकी पैसों का जल्द इंतजाम करने का वादा किया।

इसी दौरान अनिल के साथ गए एंटी करप्शन टीम के सदस्यों ने चौकी इंचार्ज अजय कुमार को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। चौकी इंचार्ज के पकड़े जाने की सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारियों ने अजय कुमार को निलंबित कर दिया है और सिविल लाइन थाने में एंटी करप्शन टीम द्वारा मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।

पुलिस दरोगा के रिश्वत लेते पकड़े जाने की सूचना मिलते ही पुलिस में हड़कम्प मचा हुआ है। एक दूसरे से मामले की जानकारी ले रहे पुलिस कर्मी एंटी करप्शन की कार्रवाई से घबराए हुए है। वही आरोपी पुलिस दरोगा का जलवा सिविल लाइन थाने में भी देखने को मिला जहां थाने के पुलिस कर्मी आरोपी को मीडिया से बचाते नजर आए।
रिपोर्ट : सागर रस्तोगी

Tags:    
Share it
Top