Top
Begin typing your search...

रिश्तेदारी में आये युवक की नहर में नहाते समय डूबकर मौत, परिवार में मचा कोहराम

अगर पुलिस प्रशासन की बात करें तो वो एकदम निकम्मी साबित हो रहे हैं

रिश्तेदारी में आये युवक की नहर में नहाते समय डूबकर मौत, परिवार में मचा कोहराम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
सहारनपुर के थाना कुतुबशेर क्षेत्रान्तर्गत अम्बाला रोड पर बड़ी नहर के पुल के पास अपने दोस्तों के साथ नहर मे नहाते समय एक 15 वर्षीय बालक ड़ूबा गया। जिसकी सुचना युवक के दोस्तों ने बालक के परिजनो को दी,सूचना मिलते ही बालक के परिजन घटना स्थल पहुंचे। इधर घटना की सुचना मिलते ही कुतुबशेर पुलिस भी मौके पर पहुँच गई और तत्काल गोताखोरो को मौके पर बुलाया गया डूबने वाले युवक की तलाश जारी है।

जानकारी के मुताबिक देहरादून निवासी नफीस का 15 वर्षीय बेटा शाकिब अपनी बहन के घर सरसावा थाना क्षेत्र के गाँव बीदपुर आया हुआ था जो कि आज अपने साथियो के साथ अम्बाला रोड बड़ी नहर मे नहाने के लिए निकल गया। सभी नहाने के लिए नहर मे घुसे ही थे कि अचानक शाकिब ड़ूबने लगा तो उसने चिल्लाते हुए बचाने की गुहार लगाई।चिल्लाने की आवाज सुनकर नहा रहे बालको ने उस बचाने का प्रयास किया, लेकिन शाकिब ड़ूब गया, बालको ने घटना की जानकारी शाकिब की बहन के घर पर दी सूचना मिलते ही परिजन और कुतुबशेर पुलिस मौके पर पहुंची और पुलिस ने गोताखोरो को सूचना देकर मौके पर बुलाया। गोताखोरो व ग्रामीणो द्वारा बालक की तलाश अभी तक जारी है। उधर शाकिब की बहन का रो रो कर बुरा हाल है परिवार में मातम छाया हुआ है।


सहारनपुर में नहर में डूबने से हुयी मौत की ये कोई पहली घटना नहीं है हर साल गर्मी में इस तरह की घटनाएं अधिकतर बढ़ जाती हैं क्योंकि गर्मी में नहाने का लुत्फ़ लेने के लिए लोग नहर में उतार जाते हैं जहाँ पर वो लहर और भंवर में फंसकर काल के गाल में समा जाते हैं।अक्सर इस तरह की डूबने की घटनाओं में कम उम्र के युवा ही शिकार हुए है जो कि स्कूल,कालेज और ट्यूशन से फरार होकर यहाँ नहर पर नहाने के लिए आते है।जिसके जिम्मेदार वो संस्थान हैं जहाँ वो पढ़ने आते हैं या माँ बाप जो अपने बच्चों से ये नहीं पूछते हैं कि वो कहाँ जा रहे हैं। वहीँ अगर पुलिस प्रशासन की बात करें तो वो एकदम निक्कमी साबित हो रहे हैं।
शिव कुमार मिश्र
Next Story
Share it