Home > यूपी में लाउड स्पीकर को लेकर दो समुदायों में खूनी जंग, एक की मौत, 25 घर फूंके गये

यूपी में लाउड स्पीकर को लेकर दो समुदायों में खूनी जंग, एक की मौत, 25 घर फूंके गये

tension over loud music thakurs vs dalits in saharnpur

 शिव कुमार मिश्र |  2017-05-06 04:03:51.0  |  सहारनपुर

यूपी में लाउड स्पीकर को लेकर दो समुदायों में खूनी जंग, एक की मौत,  25 घर फूंके गये

सहारनपुर थाना बड़गांव क्षेत्रान्तर्गत गांव सबबीरपुर में महाराणा प्रताप जयंती शोभायात्रा में डीजे को लेकर दो वर्गों में विवाद हो गया। विवाद एक ओर से पथराव के साथ शुरु हुआ जिसके बाद जमकर पथराव हुआ इसी बीच ठाकुर पक्ष के लोगों ने दलित पक्ष पर फायरिंग कर दी जिसके बाद आग जनी हो गई। दो लोगों को गोली लगने की खबर भी आयी है। जिसमें आधा दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मौके पर आलाधिकारी फ़ोर्स के साथ पहुंचे और हालात को काबू करने का प्रयास किया। आपको बता दें कि सहारनपुर के थाना बड़गांव क्षेत्रान्तर्गत शिमलाना जो कि सहारनपुर से लगभग 28 किलोमीटर है। बड़गांव कस्बे के पास स्थित गांव शिमलाना में महाराणा प्रताप जयंती के आयोजन किया जा रहा था। इस आयोजन में शोभा यात्रा निकाली जा रही थी। शोभायात्रा अभी सबीरपुर गांव में पहुँची थी कि बताया जाता है कि, यहां कुछ लोगों ने डीजे का विरोध किया ओर पुलिस भी आ गई। इसी दौरान मामले ने इतना तूल पकड़ा कि, दोनों पक्ष आमने-सामने हो गए।


इससे पहले कि हालात पाते यहां पथराव हो गया। पथराव से मौके पर भगदड़ मच गई। इसके बाद फायरिंग भी हुई। गोली लगने से दो लोगों के घायल होना बताया जा रहा है। डीएम एसएसपी मौके पर बड़गांव क्षेत्र में पथराव आगजनी की खबर मिलते ही पुलिस बल के साथ डीएम एसएसपी मौके पर पहुँचे। दोपहर 2 बजे तक गांव में तनाव के हालात थे। पड़ोसी जिलों से मंगाया गया फोर्स बड़गांव में हालात बिगड़ने पर पड़ोसी जिले मुज़फ्फरनगर से भी पुलिस बल बड़गांव बुलाया गया है, पूरे क्षेत्र को छावनी बना दिया गया है। घायल व्यक्ति की देर मौत हो जाने से एक बार फिर माहौल गर्म हो गया।


एसएसपी सुभाष चन्द्र दुबे का कहना है फिलहाल हालात सामान्य कर कानून व्यवस्था को बनाये रखना प्राथमिकता है। इसके बाद पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाएगी और उपद्रवियों क़्यो बक्शा नहीं जाएगा। सहारनपुर के थाना बड़ागांव में शुक्रवार को महाराणा प्रताप जयंती उत्त्सव के दौरान दो पक्षों के बीच आपसी विवाद हो गया।विवाद के दौरान दोनों पक्षों में जमकर मारपीट और फायरिंग भी हुई।


आपको बता दें कि थाना बड़गांव के शब्बीरपुर गांव में दलित और ठाकुर पक्ष में ज़बरदस्त संघर्ष हुआ। महाराणा प्रताप जयंती निकालने के दौरान ठाकुर पक्ष के लोगों के द्वरा बाबा भीमराव अंबेडकर की मूर्ति तोड़ने पर बवाल हुआ जिसमे दोनों पक्षों में पथराव और गोली चली। उपद्रवियों ने कई घरो में आग लगाई , मंदिर में भी तोड़फोड़ की। इस दौरान एक को गोली लगने और कई के घायल होने की सुच खबर,पूरे गांव में उपद्रव वे आगजनी जारी है. अभी सभी अधिकारी मौके पर पुलिस बल के साथ मौजूद है जो कि माहौल को सँभालने में लगे हैं। ये धर्म और जाति पर दंगे सहारनपुर में थमने का नाम ही नहीं ले रहे हैं।

कोई मंदिर के नाम पर तो कोई मस्जिद के नाम पर तो कोई जयंती की यात्रा निकलने की बात पर लड़ रहा है जिसका दुष्परिणाम भी देखने को मिल रहा है।लड़ने वाले लड़कर चले जाते हैं और राजनीतिज्ञ इसमें अपने राजनीती की रोटियाँ सकते हैं।अगर किसी का नुक्सान होता है तो वह है आम जनता का।दंगे ख़त्म हो जाते हैं लेकिन इनका दर्द वर्षो तक यहाँ के रहने वाले झेलते हैं जिनके जख्म पर मरहम भी लगाने कोई नहीं आता।

Tags:    
Share it
Top