Top
Home > Archived > पूर्व मुख्यमंत्री सईद के परिवार ने आवास खाली कर सबको चौंका दिया

पूर्व मुख्यमंत्री सईद के परिवार ने आवास खाली कर सबको चौंका दिया

 Special News Coverage |  29 Jan 2016 1:47 AM GMT


श्रीनगर: राज्य मौजूद राजनीतिक संकट में आज दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री पीएम सईद के परिवार ने शीतकालीन राजधानी का आवास खाली कर दिया। बिना जानकारी दिए बिना सईद की परिजनों ने जम्मू के बजारत रोड स्थित आवास चुपचाप खली कर दिया।


जम्मू श्रीनगर

सरकार गठन में हो रही देरी को देखते हुए पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती की मां बेगम गुलशन नजीर अपने पति मुफ्ती मुहम्मद सईद का सारा निजी सामान समेटकर श्रीनगर लौट गई हैं, हालांकि ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में सीएम का सरकारी निवास फेयर व्यू अभी भी मुफ्ती परिवार के पास ही है। ताजा घटनाक्रम पर मुफ्ती परिवार ने किसी तरह की प्रतिक्रिया तो नहीं दी है, लेकिन सीएम आवास खाली करने व महबूबा की चुप्पी ने भाजपा की परेशानी को जरूर बढ़ा दिया है।



एतिहासिक है सीएम आवास
जम्मू के वजारत रोड पर स्थित मुख्यमंत्री का सरकारी आवास अपने आप में एक इतिहास है। इस तिमंजिला भवन के साज-सज्जा में कई एतिहासिक और एंटीक वस्तुओं का इस्तेमाल हुआ है। इसमें शेख मुहम्मद अब्दुल्ला से लेकर मुफ्ती मुहम्मद सईद तक राज्य के हर मुख्यमंत्री अपने कार्यकाल के दौरान रह चुके हैं


सरकार के गठन को लेकर शुरू हुई नई अटकलों के बीच जम्मू में तीन फरवरी को महबूबा की अध्यक्षता में होने वाली पीडीपी की बैठक को भी अचानक स्थगित कर दिया गया है, जबकि श्रीनगर में 31 जनवरी की बैठक अपने तय समय पर ही होगी।

संबंधित अधिकारियों ने बताया कि दिवंगत मुख्यमंत्री की पत्नी बेगम गुलशन नजीर गत दिनों जम्मू आई थीं। वह रेजीडेंसी रोड़ के निकट वजारत मार्ग पर स्थित मुख्यमंत्री के सरकारी निवास पर गई। उन्होंने वहां से अपने परिवार का सारा निजी सामान, अपने दिवंगत पति की सभी वस्तुएं ली और श्रीनगर लौट गई। महबूबा अपने पिता को प्राप्त विशेष सुरक्षा कवच, वाहनों के काफिले व निजी स्टाफ को पहले ही लौटा चुकी हैं।

सियासत की कोई बात नहीं

पीडीपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व शिक्षा मंत्री नईम अख्तर ने कहा कि अगर बेगम गुलशन साहिबा ने सरकारी मकान को खाली किया है तो यह उनका फैसला है। इसमें सियासत की बात नहीं होनी चाहिए। अख्तर ने कहा कि यहां बहुत कुछ कहा-सुना जा रहा है। आप दो दिन इंतजार कीजिए, 31 जनवरी की बैठक में पार्टी प्रमुख सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं से गठबंधन सरकार के कामकाज, एजेंडा ऑफ एलायंस और मौजूदा सियासी हालात पर फीडबैक लेंगी। मुफ्ती सईद के मिशन को आगे ले जाने की रणनीति को अंतिम रूप दिया जाएगा। मैं यह तो नहीं कह सकता कि बैठक में सरकार के गठन पर बात होगी, लेकिन यह जरूर कहूंगा कि सभी महत्वपूर्ण मुद्दों पर बात होगी। बैठक के बाद आपके सभी सवालों के जवाब मिल सकते हैं।

नियमानुसार सात फरवरी तक सरकारी आवास में रह सकते थे
इस्टेट विभाग के निदेशक गुलाम नबी इट्टू ने कहा कि नियमानुसार दिवंगत मुख्यमंत्री मुफ्ती मुहम्मद सईद के परिवार के सदस्य सात फरवरी तक सरकारी निवास में रह सकते थे। उन्हें किसी ने यह निवास खाली करने को भी नहीं कहा था, लेकिन बेगम गुलशन नजीर अपने परिजनों के साथ आई और सामान ले गईं

बीजेपी ने कहा
पीडीपी के साथ गठबंधन पर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अविनाश राय खन्ना ने कहा कि महबूबा मुफ्ती अपने सहयोगियों की 31 जनवरी को एक अहम बैठक ले रही हैं। हम जल्दी में नहीं हैं। हम 31 जनवरी की बैठक का इंतजार करेंगे। इसमें पीडीपी क्या फैसला लेती है, वह किसे अपना नेता चुनती है, उसके आधार पर हम अपनी रणनीति को लागू करते हुए पीडीपी के साथ संवाद को बनाएंगे।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it