Top
Begin typing your search...

दुःख के दिन गुडफ्राइडे पर खुशी का संदेश दे रहे संस्कृति मंत्री महेश शर्मा व बीजेपी नेता शाहनवाज

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

mahesh-shahnawaz
नई दिल्ली
केंद्रीय संस्कृति मंत्री महेश शर्मा और भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन की संस्कृति ज्ञान का आलम यह है कि उन्होंने ईसा मसीह को सूली पर लटकाये जाने पर हैपी गुडफ्राइडे का संदेश दे दिया। इन नेताओं के इतना कहने पर ट्विटर पर उन दोनों नेता की भारी फजीहत उठानी पड़ी। लोगों ने इन दोनों नेताओं की जानकारी का चिथड़ा-चिथड़ा उड़ा दिया। बाद में इन दोनों नेताओं को इतना शर्माशार होना पड़ा कि मजबूर हो कर शाहनवाज ने अपना ट्विट संदेश मिटा दिया जबकि महेश शर्मा का ट्विट मौजूद है।




आपको बता दें कि महेश शर्मा संस्कृति मंत्री हैं। ट्विटर फालोअर्स ने उनके सांस्कृतिक ज्ञान पर सवाल खड़ा करते हुए यहां तक कह दिया कि वह संस्कृति मंत्री के लायक नहीं हैं।









दर असल गुड फ्राइडे मसीही समाज के लिए दुख का दिन होता है। इसी दिन ईसा मसीह को सूली पर चढ़ाया गया था। इसलिए इस दिन लोग ईसा पर गुजरे कठिन हालात को याद करते हैं और इबादत करते हैं। ऐसे में महेश शर्मा और शाहनवाज हुसैन ने जब गुड विशेज और हैपी गुड फ्राइडे जैसे संदेश ट्विट किये तो उन्हें फालोअर्स द्वारा न सिर्फ भारी फजीहत का सामना करना पड़ा बल्कि कई फालोअर्स ने तो उन्हें अपमानित करने की हद तक चले गये।



नवाब मलिक ने शाहनवाज के ट्विट के जवाब में लिखा कि अगर आपने बाइबल नहीं पढ़ा है तो कम से कम कुरान ही पढ़ लीजिए। गुडफ्राइडे का मतलब आपको समझ में आ जायेगा। उन्होंने लिखा कि दुख के इस दिन में अगर आप हैपी गुडफ्राइडे लिखते हैं तो फिर आप के बारे में कुछ भी नहीं कहा जा सकता।
Special News Coverage
Next Story
Share it