Top
Home > Archived > मोदी ने जो किया वो काबिले तरीफ है, संसद की कैंटीन में सब्सिडी खत्म

मोदी ने जो किया वो काबिले तरीफ है, संसद की कैंटीन में सब्सिडी खत्म

 Special News Coverage |  24 Feb 2016 8:03 AM GMT



नई दिल्ली
संसद की कैंटीन में खानपान पर सब्सिडी खत्म हो गई जिसके बाद यहां खाना पहले से करीब दो-तीन गुना महंगा हो गया है। संसद के रिसेप्शन बिल्डिंग की कैंटीन में खाने वालों की हर दिन भीड़ होती है। लेकिन अब यहां खाने के लिए लोगों को अपनी जेब ज्यादा ढीली करनी पड़ रही है।

कैंटीन रेट
जो चाय पहले 2 रुपये की मिलती थी वो अब करीब 6 रुपये की हो गई है। इसी तरह चावल 4 रुपये प्लेट की जगह 12 रुपये प्लेट, कढ़ी पकौड़ा 6 रुपये की जगह 12 रुपये की, शाकाहारी थाली जो 18 रुपये की थी वो 34 की हो गई है। चिकन और मटन करी 20 रुपये से 40 की हो गई है। रोटी 1 रुपये की जगह 3 रुपये की, चिकन बिरयानी 55 रुपये की जगह 104 रुपये की हो गई है।


संसद में एक कैंटीन मीडिया के लिए तो एक सिर्फ सांसदों के लिए आरक्षित है। एक आंकड़े के मुताबिक जब संसद चल रही होती है तो यहां खाने वालों में 9 फीसदी तादाद सांसदों की होती है और तीन फीसदी पत्रकारों की। संसद के भीतर कैटरिंग का ज़िम्मा रेलवे संभालती है। यहां खाने पर दी जाने वाली सब्सिडी को लेकर बहुत सवाल उठे। नतीजतन इस साल की शुरुआत में ही इसे खत्म करने का फ़ैसला किया गया।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it