Top
Breaking News
Home > Archived > पीएम मोदी का बच्चों से बेहद लगाव, हमले के लिए ISIS ने बच्चों को बनाया बम

पीएम मोदी का बच्चों से बेहद लगाव, हमले के लिए ISIS ने बच्चों को बनाया बम

 Special News Coverage |  24 Jan 2016 5:08 AM GMT





आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमले की साजिश रच रहा है। इसके लिए वह 12 से 15 साल के बच्चों को मानव बम के तौर पर इस्तेमाल कर सकता है। इस आतंकी संगठन ने बाकायदा बच्चों की भर्ती भी कर ली है। खुफिया एजेंसियों को यह जानकारी मिली है।

अलर्ट जारी, SPG चौकस
अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया ने अपनी रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा है कि हथियारों और विस्फोटकों का इस्तेमाल करने में माहिर 12 से 15 साल के बच्चे देश में घुस चुके हैं। इस बारे में खुफिया एजेंसियां शुक्रवार को ही अलर्ट जारी कर चुकी हैं। एसपीजी, एनसीआर पुलिस और इंटेलिजेंस यूनिट को चौकन्ना कर दिया है।


मोदी ने पिछले साल तोड़ा था घेरा

पिछले स्वतंत्रता दिवस पर मोदी लाल किले से निकलते वक्त अपने सुरक्षा दस्ते को बताए बिना ही बच्चों से मिलने उनके बीच चले गए थे। आईएसआईएस इसी का फायदा उठाते हुए मोदी को निशाना बनाने के लिए बच्चों का इस्तेमाल करने की फिराक में है। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में लगा स्पेशल प्रॉटेक्शन ग्रुप (SPG) इस अलर्ट पर चौकस है।

अबकी बार घेरा न तोड़ने का आग्रह
पीएम को निशाना बनाने के मकसद से तैयार चाइल्ड स्क्वॉयड से जुड़ी जानकारी मिलने के बाद एसपीजी और सलाहकारों को ब्रीफ कर दिया गया है. पीएम से आग्रह किया गया है कि वह इस बार किसी हाल में अपना सुरक्षा घेरा न तोड़ें. वहीं, दिल्ली पुलिस भी मुस्तैद है. स्पेशल सेल को भी अलर्ट कर उसे सर्च ऑपरेशन जारी रखने को कहा गया है।

रक्षा मंत्री खारिज कर चुके हैं खतरा
इससे पहले गोवा में एक गुमनाम खत जारी कर रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धमकी दी गई थी. हालांकि पर्रिकर ने बाद में कहा था कि यह धमकी 50 पैसे का पोस्टकार्ड ही तो था. उनकी या पीएम की जान को किसी से कोई खतरा नहीं है.

आईएस ने जारी किया था बच्चों का वीडियो
आईएस ने कुछ ही दिन पहले बच्चों की कठोर शारीरिक ट्रेनिंग के साथ मशीनगन और रॉकेट लॉन्चर छोड़ते वीडियो भी जारी किया था। पाकिस्तान और अफगानिस्तान के आतंकी कैंपों में भी बच्चों को ट्रेनिंग दी जा रही है। ऐसे आतंकी संगठनों में एक अंसार-उद-तवाहिद (एयूटी) भी है, जो आईएस को भारत में कदम रखने में मदद कर रहा है।

इस बार इसलिए भी है सबसे ज्यादा अलर्ट

अबकी बार सबसे ज्यादा अलर्ट इसलिए भी है क्योंकि पहली बार राजपथ पर किसी दूसरे देश की सेना हमारी सेना के साथ परेड करने वाली है। फ्रांस की यह टुकड़ी हमारे सैनिकों के साथ फुल ड्रेस रिहर्सल भी कर चुकी है। इससे पहले खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट जारी किया था कि आईएसआईएस भारत में भी फ्रांस की राजधानी पेरिस जैसे हमले करने की साजिश रच रहा है।
साभार आज तक

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it