Top
Begin typing your search...

ममता के घर में अमित शाह नहीं दिखाई ममता, अब बंगाल मैं जय श्रीराम के शोर

बंगाल में लोकतंत्र को कमजोर करने के लिए तृणमूल कांग्रेस चुनाव लड़ रही है

ममता के घर में अमित शाह नहीं दिखाई ममता, अब बंगाल मैं जय श्रीराम के शोर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पश्चिम बंगाल। पश्चिम बंगाल में सियासत कि राजनीति पुरे आसमान चढ़कर बोल रहा है, वही ममता बनर्जी के गढ़ में आज बंगाल के विष्णुपुर में अमित शाह 2019 लोकसभा चुनाव में चुनावी रैली में दीदी पर खुब गरजे। और वहां के ममता सरकार पर अपने जुबानी तेवरों से अनेक आरोप लगाते रहे। कहा कि बंगाल में पंचायत चुनाव के दौरान 60 से ज्यादा भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई थी। गुंडे वोट नहीं डालने देते थे। लेकिन इस पंचायत नहीं लोकसभा चुनाव है। चुनाव आयोग ने कड़ा फैसला लेते हुए यहां अतिरिक्त फोर्स भेजी है। तो आप डरिये मत वोट कीजिये। एक तरफ पूरे देश में चुनाव विकास के मुद्दे पर लड़ा जा रहा है। लेकिन बंगाल में लोकतंत्र को कमजोर करने के लिए तृणमूल कांग्रेस चुनाव लड़ रही है। हमारे प्रत्याशी सौमित्र खान को अपने प्रचार के लिए यहां होना चाहिए था। लेकिन ममता दीदी ने ऐसा संयत्र रचा कि वो आपके प्रत्याशी को ही आपसे मिलने नहीं देती।

बंगाल में जय श्रीराम बोलने पर दीदी को एतराज है। ममता दीदी, श्रीराम अगर बंगाल में नहीं बोलेंगे तो क्या पाकिस्तान में बोलेंगे? मैंने इस मंच से जय श्रीराम बोला है, अब ममता दीदी को जो धारा लगानी है लगा लें, पर वो हमें हमारी संस्कृति से अलग नहीं कर सकती। हालांकि शाह यही पर नही रुके और कहां कि यहां सरस्वती पूजा, दुर्गा पुजा, वाल्मिकी पुजा का जुलूस शान से निकलेगा ममता दीदी की औकात नही कि रोक लें।

बंगाल में जो शरणार्थी है हिंदू, बौद्ध, सिक्ख,जैन जो है उनको भारत कि नागरिकता देने का काम हमारी सरकार करेगी। मोदी जी की सरकार पहले सिटिजन अमेंडमेंट बिल से शरणार्थियों को नागरिकता देगी। बाद में कलकत्ता से कच्छ तक और कश्मीर से कन्याकुमारी तक चुन-चुनकर घुसपैठियों को निकालने का काम किया जाएगा।जब कांग्रेस कि सरकार थी तो बंगाल में टीएमसी सरकार की समर्थन करती थी। कांग्रेस कि सरकार ने बंगाल को विकास के लिए 5 साल में केवल एक लाख 32 हजार करोड़ दिया था। लेकिन मोदी सरकार ने पांच साल में चार लाख चौबीस हजार आठ सौ करोड़ रुपया देने का काम किया है। फिर ये पैसा बंगाल में विकास के नही लगा और पैसा भी खत्म हो गया। ममता ने बंगाल को कंगाल बनाया कर रख दिया है।

राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस के नेता मोदी जी के लिए अपशब्दों का प्रयोग कर रहे हैं ये मोदी जी का अपमान देश सहन नही करेगा। चिटफंड घोटाले में तृणमूल कांग्रेस के लोग गरीबों के करीब 10 हजार करोड़ रुपये खा गये। भाजपा की सरकार बनने के बाद चिटफंड के दोषियों को जेल में डालने का काम किया जाएगा। ममता दीदी कहती हैं कि वो मोदी जी को प्रधानमंत्री नहीं मानतीं। मैं उनसे पूछता हूं कि वो देश के संविधान पर विश्वास करती हैं या नहीं? उनके मानने या न मानने से कुछ नहीं होगा।बंगाल के 23 सीटों पर कमल खिलाना है। मोदी जी फिर एक बार देश के प्रधानमंत्री बनना है यही आप से अपील करने आया हूं कि आप कमल के निशान पर बटन दबाकर भाजपा को भारी मतों से जीतायें। आप का एक-एक वोट नरेन्द्र मोदी को जायेगा।

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it