Top
Begin typing your search...

असदुद्दीन ओवैसी के बिगड़े बोल, हम अपने धर्म के हिसाब से जिंदगी .....

असदुद्दीन ओवैसी आपसे लड़ेगा, मजलूमों के इंसाफ के लिए लड़ेगा।

असदुद्दीन ओवैसी के बिगड़े बोल, हम अपने धर्म के हिसाब से जिंदगी .....
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। अधिकतर एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी विवादित बयान देते रहते है। एक तरफ 17वीं लोकसभा के गठन के के बाद सब मंत्री लगभग 75 दिनों बाद अपने कार्य में लग गये है, तो असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक बार फिर हमला करना शुरू कर दिया है। एक सभा के दौरान उन्हों ने कहा कि अगर कोई ये समझ रहा है कि हिन्दुस्तान के वजीए-ए-आजम 300 सीट जीत कर, हिन्दुस्तान पर मनमानी करेंगे, तो यह नहीं हो सकेगा।वजीए-ए-आजम से हम कहना चाहते हैं कि संविधान का हवाला देकर, असदुद्दीन ओवैसी आपसे लड़ेगा, मजलूमों के इंसाफ के लिए लड़ेगा।

मक्का मस्जिद में ओवैसी ने कहा कि भारत में फिर से भाजपा के सत्ता में आने से डरना नहीं चाहिए। भारत का कानून और संविधान हमें इस बात की इजाजत देता है कि हम अपने धर्म के हिसाब से जिंदगी बसर करें। किसी पार्टी के आने से कोई खास अंतर नहीं आता है। हिंदुस्तान को आबाद रहना है, हम हिंदुस्तान को आबाद रखेंगे। हम यहां पर बराबर के शहरी हैं, किरायदार नहीं हैं, हिस्सेददार रहेंगे।

हालांकि कि पिछले दिनों बाबा रामदेव के बयान पर भी करारा जवाब दिया था। रामदेव ने कहा था कि जनसंख्या वृद्धि देश की खराब स्थिति के लिए जिम्मेदार है। इसके नियंत्रण के लिए सरकार को कानून लाना चाहिए। दो के बाद पैदा होने वाले तीसरी संतान को वोट डालने सहित अन्य नागरिक अधिकारी नहीं मिलने चाहिए। इस स्थिति से बचने को दो से अधिक बच्चे पैदा करने की प्रवृति पर कानूनी रूप से रोक लगाना चाहिए। तीसरे बच्चे को सरकारी सुविधाओं से भी वंचित किया जाना चाहिए। इस तरह का कानून देश भर में लागू किया जाना चाहिए।



Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it