Top
Home > राजनीति > दिग्विजय-तेजस्वी की मांग वारिस पठान की हो गिरफ्तारी, जानें क्या है मामला?

दिग्विजय-तेजस्वी की मांग वारिस पठान की हो गिरफ्तारी, जानें क्या है मामला?

वारिस पठान ने गुरुवार को एक सभा में कहा कि देश में 15 करोड़ मुसलमान हैं, लेकिन 100 करोड़ हिंदुओं भारी पड़ सकते हैं। एक सीएए विरोधी रैली को संबोधित करते हुए पठान ने कहा कि अब वक्त आ गया है कि हमें संगठित होकर आजादी लेनी होगी।

 Sujeet Kumar Gupta |  21 Feb 2020 5:09 AM GMT  |  नई दिल्ली

दिग्विजय-तेजस्वी की मांग वारिस पठान की हो गिरफ्तारी, जानें क्या है मामला?
x

एआईएमआईएम के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता वारिस पठान ने कर्नाटक के गुलबर्गा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए विवादित बयान दिया है। वारिस पाठन ने बिना नाम लिए कहा कि पर 15 करोड़ (मुस्लमान) है मगर 100 करोड़ (हिंदुओं) पर भारी पड़ेंगे, ये याद रख लेना। इस बयान को लेकर कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने निंदा की है। यादव ने कहां की इस तरह का विवादित बयान देने के आरोपी विधायक की गिरफ्तारी की मांग की है राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। वहीं राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने भी लोगों से ऐसे जहरीले बयानों का बहिष्कार करने को कहा है।

दिग्विजय ने ट्वीट कर कहा, 'ओवैसी जी की पार्टी एआईएमआईएम के राष्ट्रीय प्रवक्ता और महाराष्ट्र के भयखला से विधायक वारिस पठान के बयान की मैं निंदा करता हूं। इसी प्रकार के बयान असदुद्दीन ओवैसी सांसद के भाई अकबरुद्दीन ओवैसी विधायक ने दिए थे। वारिस पठान के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। कांग्रेस सदैव कट्टरपंथी विचारधारा के खिलाफ लड़ी है। भाजपा और एआईएमआईएम एक दूसरे के पूरक हैं। दोनों धार्मिक भावना फैला कर नफरत पैदा करते हैं।'

पठान के बयान पर राजद नेता तेजस्वी यादव ने संविधानप्रिय और न्यायप्रिय लोगों को इस तरह के जहरीले लोगों का बहिष्कार करने के लिए कहा है। तेजस्वी ने लिखा, ' उनका बयान निंदनीय है। उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए। एआईएमआईएम भाजपा की बी टीम की तरह काम कर रही है। इसी तरह अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा को भी गिरफ्तार किया जाना चाहिए। जो भी भड़काऊ टिप्पणी करता है, उसके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। हमारी सांझी विरासत और सांझी शहादत की बदौलत हम सांझी लड़ाई लड़ रहे है। भाजपाईयों के लाख चाहने के बावजूद भी ध्रुवीकरण नहीं हो पा रहा तो कट्टरपंथी भाजपा ने अब अपने सहयोगी कट्टरपंथी लोगों को आगे किया है। संविधानप्रिय व न्यायप्रिय लोग ऐसे जहरीले लोगों का बहिष्कार करे।'

शिवसेना ने भी इस बयान को लेकर कड़ी निंदा की है शिवसेना के संजय राउत ने कहा है कि हम भी इसका माकुल जवाब देने को तैयार है।

बातदें कि ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के नेता वारिस पठान ने गुरुवार को एक सभा में कहा कि देश में 15 करोड़ मुसलमान हैं, लेकिन 100 करोड़ हिंदुओं भारी पड़ सकते हैं। एक सीएए विरोधी रैली को संबोधित करते हुए पठान ने कहा कि अब वक्त आ गया है कि हमें संगठित होकर आजादी लेनी होगी। याद रखना हम 15 करोड़ हैं, लेकिन हम 100 करोड़ पर भारी हैं। वारिस पठान ने कहा कि 'वे कहते हैं कि हमने अपनी महिलाओं को आगे रखा हुआ है। अभी तक सिर्फ शेरनियां बाहर आई हैं और तुम्हारे पहले ही पसीने निकल रहे हैं। तुम समझ सकते हो कि अगर हम सब एक साथ आगे आ गए तो क्या होगा। ये याद रख लेना।'


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it