Top
Begin typing your search...

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता गुरुदास कामत का निधन

वह 63 वर्ष के थे। उन्हें दिल की बीमारी की वजह से दिल्ली का चाणक्यपुरी स्थित प्रीमस अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता गुरुदास कामत का निधन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली :

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुरुदास कामत का आज दिल्ली में निधन हो गया। शुरूआती जानकारी के मुताबिक गुरुदास कामत को दिल का दौरा पड़ा था। उन्हें दिल्ली के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अस्पताल पहुंच कर गुरुदास कामत को श्रद्धांजलि दी।गुरुदास कामत पांच बार लोक सभा सांसद रह चुके हैं। गुरुदास कामत UPA के दूसरे कार्यकाल में 2009 से 2011 तक गृह राज्य मंत्री रहे थे। इस दौरान उनके पास कम्युनिकेशन और इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी का अतिरिक्त प्रभार भी था। जुलाई 2011 में उन्होंने मंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया था। इसके बाद उन्हें महाराष्ट्र कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया था। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है।उनके निधन पर राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अशोक गहलोत ने दुख व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट पर दुख व्यक्त करते हुए कामत के निधन को अपूर्णीय क्षति बताया है। उन्होंने ट्वीटर पर लिखा है कि कामत के निधन की खबर से वह काफी दुख और सदमे में हैं। भगवान उनके परिवार को ये दुख सहने की शक्ति प्रदान करे। भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी कामत के निधन पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि ये इतनी बड़ी क्षति है जिसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। भारतीय जनता युवा मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूनम महाजन समेत कई और वरिष्ठ नेताओं ने गुरुदास कामत के निधन पर दुख व्यक्त किया है। दिल्ली में गुरुदास कामत के निधन के बाद सोनिया गांधी समेत कई बड़े नेता उनके परिजन से मिलने और अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे हैं।

गुरुदास कामत कुर्ला मुंबई के रहने वाले थे। उनके पिता के ऑटो मोबाइल कंपनी में काम करते थे। परिवार में कोई राजनीतिक बैक ग्राउंड न होने के बावजूद गुरुदास कामत ने भारतीय राजनीती में अहम स्थान बनाया था। कांग्रेस में उनका कद काफी ऊंचा था।

उन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरूआत वर्ष 1972 में बतौर यूथ कांग्रेस के छात्र नेता के तौर पर की थी। वह पेशे से वकील थे। यूथ कांग्रेस के बाद उन्होंने एनएसयूआइ ज्वॉइन की। इसके बाद वह यूथ कांग्रेस के महाराष्ट्र के प्रदेश अध्यक्ष बनाए गए। वह पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में मुंबई कांग्रेस के प्रमुख भी रहे हैं।

Anamika goel

About author
Never Give Up..
    Next Story
    Share it