Home > राजनीति > एक चरण में महाराष्ट्र-हरियाणा में 21 अक्टूबर डाले जाएंगे वोट, 24 अक्टूबर को आएंगे नतीजे

एक चरण में महाराष्ट्र-हरियाणा में 21 अक्टूबर डाले जाएंगे वोट, 24 अक्टूबर को आएंगे नतीजे

 Sujeet Kumar Gupta |  21 Sep 2019 6:36 AM GMT  |  नई दिल्ली

एक चरण में महाराष्ट्र-हरियाणा में 21 अक्टूबर  डाले जाएंगे वोट, 24 अक्टूबर को आएंगे नतीजे

चुनाव आयोग आज यानी शनिवार को महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 की तारीखों का ऐलान कर दिया है आयोग दोपहर 12 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी घोषणा कि महाराष्ट्र-हरियाणा में 21 अक्टूबर को चुनाव होंगे और 24 अक्टूबर को आएंगे नतीजे। इससे पहले शुक्रवार को इलेक्शन कमीशन ने महाराष्ट्र दौरे से लौटने के बाद एक समीक्षा बैठक की थी जिसमें उसने इन दोनों राज्यों में अंतिम चुनाव तैयारियों पर अपनी मुहर लगाई थी।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि ईवीएम पूरी तरह से सेफ हैं, ईवीएम और वीवीपैट मशीनों को इन्हें डबल लॉक में रखा जाएगा. कोई भी उम्मीदवार और उनके साथी एक निश्चित सुरक्षित दूरी से स्ट्रॉन्ग रूम की सुरक्षा पर निगाह रख सकते हैं. चुनाव आयोग इस दौरान उम्मीदवारों, पार्टियों के सोशल मीडिया पर भी नज़र रखेगा. चुनाव आयोग की ओर से इस दौरान अलग-अलग राज्यों की 64 सीटों पर उपचुनाव का ऐलान भी किया गया है।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि प्रत्याशी के लिए चुनाव में खर्च की अधिकतम लिमिट 28 लाख रुपये रहेगी, ये नियम दोनों ही राज्यों में लागू होगा. तारीखों का ऐलान करने से पहले चुनाव आयोग ने सुरक्षा का जायजा लिया और तैयारियों को परख कर ही अब चुनाव कराया जा रहा है.

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हरियाणा-महाराष्ट्र में 2 नवंबर, 9 नवंबर को विधानसभा का कार्यकाल खत्म हो रहा है. ऐसे में इससे पहले इन राज्यों में चुनाव की प्रक्रिया पूरी होंगी. महाराष्ट्र में 8.9 करोड़ मतदाता हैं, जबकि हरियाणा में 1.28 करोड़ मतदाता हैं. हरियाणा में 1.03 लाख बैलेट यूनिट हैं, जबकि महाराष्ट्र में 1.8 लाख बैलेट यूनिट, 1.28 लाख CU और 1.39 लाख वीवीपैट मशीनें हैं।

महाराष्ट्र और हरियाणा का चुनाव शेड्यूल

नोटिफिकेशन 27 सितंबर

नामांकन की आखिरी तारीख 4 अक्टूबर

नामांकन की स्क्रूटनी 5 अक्टूबर

नाम वापसी की आखिरी तारीख 7 अक्टूबर

मतदान 21 अक्टूबर

नतीजे 24 अक्टूबर

बता दें कि हरियाणा में मौजूदा विधानसभा की अवधि 2 नवंबर तक है जबकि महाराष्ट्र में 9 नवंबर तक. ऐसे में इलेक्शन कमीशन को 2 नवंबर से पहले चुनाव की पूरी प्रक्रिया को संपन्न करना होगा. हरियाणा में विधानसभा की 90 सीटें हैं जबकि महाराष्ट्र में विधानसभा की कुल 288 सीटें हैं. दोनों राज्यों में एक से दो चरण में चुनाव कराए जाने की संभावना है. हरियाणा में एक चरण और महाराष्ट्र में एक या दो चरण में चुनाव संपन्न कराया जा सकता है।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top